navratri 2022 muhurat
navratri 2022 muhurat

Navratri 2022 Muhurat: चैत्र मास को हिंदू धर्म का सबसे पावन महीना माना जाता है। क्योंकि इस महीने मां दुर्गा की अराधना की जाती है और वो स्वंय 9 दिन के लिए आपने 9 रूपों में आपके घर पधारती है। इस साल चैत्र नवरात्रि 02 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं। वही इस बारे के नवरात्र अत्यंत ही महत्तवपूर्ण बताए जा रहे है। चलिए जानते है कि इस बार के नवरात्रि कैसे है इतने शुभ।

इस बार के नवरात्रि में मकर राशि में शनि और मंगल ग्रह साथ रहेंगे। जिस कारण कार्य में सफलता और मनोकामना पूरी होने के योग बन रहे है। वही कुंभ राशि में गुरु और शुक्र साथ रहेंगे। मीन में सूर्य और बुध, मेष में चंद्रमा, वृषभ में राहु, और वृश्चिक में केतु विराजमान रहेंगे।

इसके साथ ही चैत्र नवरात्रि पर रवि पुष्य नक्षत्र के साथ सर्वार्थ सिद्धि और रवि योग का शुभ योग बनता नजर आ रहा है। बता दें सर्वार्थ सिद्धि योग का संबंध मां लक्ष्मी से होता है। ऐसी मान्यता है कि इस योग में किए गए कार्य सफल होता है। और रवियोग में किए गए कार्यों का फल जल्दी मिलता है।

बता दें इस बार चैत्र नवरात्रि पर घट स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 10 मिनट से लेकर 08 बजकर 29 मिनट तक है। नवरात्र में माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा होती है। नवरात्र में कन्या पूजन का विशेष महत्त्व होता है। कन्या को भोजन कराकर उनसे आशीर्वाद लिया जाता है।

Chaitra Navratri 2022 Ghatsthapna Muhurat

चैत्र नवरात्रि 2022 स्थापना- 02 अप्रैल 2022
चैत्र नवरात्रि 2022 समापन – 11 अप्रैल 2022, सोमवार
कलश स्थापना मुहूर्त – 02 अप्रैल, प्रात: 06:01 से 08:29 तक शुभ मुहूर्त
घट स्थापना का अभिजीत मुहूर्त – दोपहर 12:01 से 12:50 तक

Latest News