hero splendor electric conversion kit

पेट्रोल के बढ़ते दामों के चलते इंडिया में वाहन अब बिना सीएनजी की तरफ बढे, इलेक्ट्रिक हो रहे हैं। धीरे-धीरे आरटीओ से पास करवाकर बाइक के इलेक्ट्रिक किट में बाजार में उपलब्ध होने को तैयार हैं। भारतीय बाजार में जल्द ही बड़ी मात्रा में स्प्लेंडर इलेक्ट्रिक किट बिक्री के लिए उपलब्ध हो जाएंगे। पहले से बाइक को काम में ले रहे लोग, उन पुरानी बाइक में इलेक्ट्रिक किट फिट करवा सकते हैं। ICE-संचालित वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने पर पैसा तो खर्च होगा, लेकिन रोज रोज के खर्चे से छुटकारा मिल जाएगा। Hero Splendor इलेक्ट्रिक किट के लिए GoGoA1 ने अपना बेहतरीन और पुख्ता साबुत पेश किया है। यह किट आरटीओ से अप्रूव भी है और बाइक में आसानी से फिट भी बैठ रहा है।

बाइक के इलेक्ट्रिक किट की कीमत 35,000 रूपए है। लेकिन इसके आलावा बैटरी के लिए 50,000 और जीएसटी के रूप में 5,606 भी देने होंगे। लोग सर्च करते हैं की पुरानी बाइक को इलेक्ट्रिक करवाने में कितना खर्च आएगा। इसके लिए साफ़ गणित है कि पूरा खर्च लगभग 90 हजार रूपए आएगा।

इलेक्ट्रिक किट और मोटर की भी बैटरी के साथ 3 साल की वारंटी होगी। मोटरसाइकिल में इलेक्ट्रिक किट लगने के बाद ग्रीन नंबर प्लेट लगेगी। GoGoA1 नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के बिल के बाद आरटीओ द्वारा यह प्लेट जारी की जाएगी।

निर्माता का दावा है कि बैटरी को एक बार फुल चार्ज करने पर हीरो स्प्लेंडर 151 किमी की दूरी तय करेगी। भारतीय बाजार में लॉन्च होने वाले नए इलेक्ट्रिक स्कूटर के मुकाबले में यह बहुत महँगी है। इलेक्ट्रिक कन्वर्जन किट आरटीओ से पास है, इसलिए दुर्घटना में बीमा कंपनी नुकसान का भुगतान भी करेगी।

Electric Kit For Bike

इलेक्ट्रिक किट में मोटर की क्षमता 2 kW है। पेट्रोल इंजन को बाइक हटा दिया जाता है और बैटरी के साथ किट को फिट कर दिया जाता है। इसके अलावा, एक एमसीबी और कुछ कन्वर्टर्स हैं बाइक के साइड बॉडी पैनल में लगे होते हैं। इस बाइक को कस्टमाइज करने में बजाज पल्सर से रियर ब्रेक लेकर लगाने पड़े हैं। स्विचगियर पहले जैसा ही बाइक का रहेगा।

Hero Splendor Electric Kit Price

इलेक्ट्रिक किट को अभी हीरो स्प्लेंडर में लगाने की ही मंजूरी मिली है। मोटर 63 एनएम का टार्क आउटपुट देती है। हालांकि, यह 127 एनएम पर टॉर्क पहुंच सकती है। मोटरसाइकिल की वहन क्षमता 100 किलोग्राम से अधिकतम 300 किलोग्राम है। बाइक को आसानी से दो सवारी के साथ 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चला सकते हैं।

इलेक्ट्रिक कन्वर्जन के बाद बाइक का वजन भी कम हो जाता है। रेगुलर स्प्लेंडर 20 किलोग्राम की कमी आ रही है। वजन कम होने से बाइक की परफॉरमेंस भी अच्छी होती है।

Latest News