old car price and new rule
old car price and new rule

Latest Car News: कार के चालान और जब्ती से निजात पाने के लिए इस बार से स्टिकर लगाना अनिवार्य होगा। भारत सरकार के परिवहन मंत्रालय ने वाहनों के पॉलुशन को कम करने के उद्देश्य से यह कदम उठाया गया है। अब से प्राइवेट और कमर्शियल वाहनों की विंडशील्ड पर यह सर्टिफिकेट लगाना होगा। यह केरिटिफकेशन आरटीओ ऑफिस से फिटनेस चेक करवाकर लेना होगा। यह फिटनेस सर्टिफिकेट प्लेट लगाना अब अनिवार्य कर दिया गया है। गाड़ी की आरसी के साथ ही आपको फिटनेस का फॉर्म भरकर अप्लाई करना होगा।

ऐसे होगी फिटनेस प्लेट

आरटीओ से आपको अप्लाई करने के बाद फिटनेस प्लेट दी जाएगी। यह प्लेट गाड़ियों की नंबर प्लेट जैसी ही होगी। इसे आपको गाड़ी की विंडशील्ड पर लगाना होगा। फिटनेस की एक्सपायरी डेट महीना और साल भी इस पर साफ दिखाई देंगे।

लगेगा भारी जुर्माना

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक, 1 महीने तक जनता और स्टेकहोल्डर्स से सुझाव मांगे गए हैं, इसके बाद यह नियम सरकार ने लागू किया है। फैसले के मुताबिक 10 साल से पुराने डीजल वाहन और 15 साल से पुराने निजी वाहनों को चलाने की अनुमति नहीं होगी। देश भर में 20 साल से ज्यादा बिना फिटनेस वाले पुराने वाहनों की संख्या 51 लाख और 15 साल से पुराने वाहनों की संख्या 34 लाख है। इन वाहन मालिकों के घर अब अच्छा खासा जुर्माना भेजा जाएगा।

लाखों गाड़ियां हो जाएंगी कबाड़

15 और 20 साल पुरानी गाड़ियों को लेकर सरकार के सख्त फैसले के बाद लाखों कारें खत्म हो जाएंगी। इन्हे सड़क पर चलने की इजाजत नहीं दी जाएगी। केंद्र सरकार के सड़क परिवहन मंत्रालय के मुताबिक, 17 लाख से अधिक व्हीकल 15 साल से पुराने हैं और वेलिड फिटनेस सर्टिफिकेट के बिना चल रहे हैं। दो-पहिया वाहनों के लिए भी यह नियम लागू है। मडगार्ड या फिर मास्क अथवा एप्रॉन पर फिटनेस सर्टिफिकेट लगाने के बाद मोटरसाइकिल से सफर कर सकेंगे। दिल्ली और हरियाण सरकार ने इसे तुरंत लागू कर दिया है। 1 अप्रैल इस इस नियम को केंद्र सरकार सख्ती दिखाएगी। नए नियम के मुताबिक बिना फिटनेस पास करे वाहन सड़कों पर नहीं चलेंगे। ऐसे वाहनों को तत्काल स्क्रैप होने के लिए भेज दिया जाएगा।

Latest News