used car and bike latest price and big update
used car and bike latest price and big update

Car And Bike News: सड़कों पर दौड़ रही कार और बाइक को लेकर सरकार ने एक बड़ा निर्णय लिया है। जहां देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीँ कई नाकारा वाहन अभी भी सड़कों पर प्रदुषण फैला रहे हैं। 15 साल के बाद कार और मोटरसाइकिल की आरसी रिन्यू नहीं कराने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। आरटीओ ऑफिस में रजिस्टर्ड इस कार का पहले तो नोटिस भेजा जाएगा। इसके बाद इस कार को नाकारा कर दिया जाएगा। कार को खत्म करने से पहले कुछ राज्यों में पेपर के अंदर भी विज्ञप्ति जारी की जाती है। लाखों कार बिना फिटनेस प्रमाण पत्र के सड़को पर दौड़ रही है, ऐसे में इन वाहनों को भी जब्त करने के आदेश जारी किए गए हैं।

स्क्रैप पॉलिसी में ऐसे करें अपने वाहन की जांच

आपकी कार या बाइक भी कहीं नाकारा की लिस्ट में तो नहीं है। इसके लिए आपको सिर्फ अपने वाहन के कागजात टटोलने होंगे। कागजात में फिटनेस सर्टिफिकेट न होने की स्थिति में आपको आरटीओ ऑफिस जाना होगा। वहां यदि आपकी कार फिट पाई जाती है। ऐसे में सर्टिफिकेट जारी हो जाता है तो आप सड़क पर गाडी चला सकते हैं। वाहन का फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं बनने की स्थिति में आपको खुद ही उसे स्क्रैप में डालना होगा। जब्त होने के बाद ऐसे वाहनों को सरकार नष्ट करवाएगी।

अब से कार की विंडशील्ड पर यह सर्टिफिकेट लगाना जरुरी

फिटनेस सर्टिफिकेट को लेकर सख्ती बढ़ा दी गई है। इस बार से फिटनेस स्टिकर लगाना कार चालकों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। भारत सरकार के परिवहन मंत्रालय ने इसके गाइडलाइन जारी की है। प्राइवेट और कमर्शियल वाहनों की विंडशील्ड पर आरटीओ से प्राप्त यह सर्टिफिकेट लगाना होगा।

ऐसे होगी फिटनेस प्लेट

आरटीओ से टेस्ट के बाद फिटनेस प्लेट (स्टीकर) दिया जाएगा। यह प्लेट कार/बाइक की नंबर प्लेट जैसी होगी। इसे आपको कार की विंडशील्ड पर या बाइक के अमरघाट पर लगाना होगा। फिटनेस की एक्सपायरी डेट महीना और साल इस पर अंकित होगी।

बिना फिटनेस गाडी पकड़ी जाने लगेगा जुर्माना

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के इस निर्णय के बाद 10 साल से पुराने डीजल वाहन और 15 साल से पुराने निजी वाहनों को सड़क चलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इंडिया में वर्तमान स्थिति पर नजर डालें तो 20 साल से पुराने 51 लाख लाइट मोटर व्हीकल और 15 साल से ज्यादा पुराने 34 लाख वाहन अभी भी सड़कों पर दौड़ रहे हैं। कानून का उल्लंघन करने वाले ऐसे सभी वाहन मालिकों पर जुर्माना करके नोटिस घर भेजा जाएगा।

लाखों कारें होंगी कबाड़

भारत सरकार के सड़क परिवहन मंत्रालय के मुताबिक, 17 लाख से अधिक व्हीकल फिटनेस सर्टिफिकेट के बिना सड़कों पर चल रहे हैं। दो-पहिया वाहनों के लिए भी यह नियम लागू किया गया है। मडगार्ड या फिर मास्क अथवा एप्रॉन पर फिटनेस सर्टिफिकेट लगाना होगा। 1 अप्रैल से इस नियम को केंद्र सरकार सख्ती के साथ सभी राज्यों को लागू करने पर जोर देगी। बिना फिटनेस सर्टिफिकेट वाले वाहनों को तत्काल स्क्रैप के लिए भेज दिया जाएगा।

Latest News