बैंक में जमा करा चुके लोगों को नोटिस मिलना शुरू! अब इन बेनामी सम्पतियों की बारी
business
IT Notice

नोटबंदी के बाद जहाँ लोग अपने पैसे जमा कराने के लिए कतारों में लगे है।  वहीँ कुछ लोग ऐसे भी है जिन्होंने बिना संपत्ति का ब्यौरा दिए पहली बार इतनी नकदी जमा कराइ है।  तय सीमा तक नकदी तो जमा करा दी गई लेकिन उन लोगों को खासकर जिनके खाते अब तक शून्य या उसके आस पास जमा के थे।  ऐसे लोगों से यह जानकारी ली जाएगी की आपके पास यह राशि आयी कहाँ से , कहीं किसी और की  तो  नहीं है।
कुछ अपवाद के तौर पर ऐसे भी लोग हो सकते है जिन्होंने लोगों के पैसे अपने खाते में जमा करवाये है।  जन धन खाते में भी अचानक से पैसे आने के बाद सरकार और आयकर विभाग सक्रीय हो गए। 
वेस्ट बंगाल में सिलीगुड़ी और सिक्किम की राजधानी गंगटोंक में लोगों को नोटिस मिल गए है। इसमे 25 नवम्बर को सभी दस्तावेज के साथ पेश होने को कहा है।  कंपनी को 13 नवम्बर की जमा राशि 4 लाख 51 हजार रूपए के बारे में जानकारी मांगी है।

यह भी पढ़ें :अब जेब में भी नहीं रख सकेंगे इससे अधिक नकदी! सीमायें तय

 आखिर क्या है बेनामी संपत्तियां
रातों -रात सरकार द्वारा नोटबंदी की घोषणा किये जाने के बाद से ही जनता में माहौल बना हुआ है की आखिर मोदी जी ने शुरुआत तो कर दी लेकिन लेकर कहाँ तक जायेंगे।  और वहीँ मोदी जी ने भी स्पस्ट कर दिया की आजादी के बाद से लेकर अब तक का जमा काला धन निकाला जायेगा, चाहे वो किसी भी रूप में आपने जमा कर रखा हो। बेनामी संपत्तियों में से उन सभी को गिना जायेगा जो पैतृक नहीं और अपनी आय के अनुपात में सटीक नहीं है।
इन संपत्तियों में अपने मकान, जमीन ,खाली  प्लॉट, फार्म हाउस , बैंक लॉकर में पड़ी राशि या धन , सोने की मात्रा , और नकदी की राशि।

यह भी पढ़ें : इस हरियाणवी लड़की का सपना डांसर पर सर्जिकल स्ट्राइक , देखें वीडियो 

आजादी के पहले आपके या आपके पुरुखों के पास क्या था और आज आपके पास क्या है जिसमे आपने कितना तो धन अर्जित किया है अपनी मेहनत से।
मेहनत  और खेती से  की गई कमाई की राशि को छोड़कर सभी अन्य राशि को बेनामी संपत्ति करार दे दिया जायेगा।  जिस सम्पति का ब्यौरा न दिया जायेगा वो सब बेनामी संपत्तियों में गिनी जाएगी।

Latest News