Education loan tips in hindi

कोरोना के मामले कम होने के बाद भारतीय स्टूडेंट्स के लिए विदेशी यूनिवर्सिटीज ने अपने दरवाजे खोल दिए हैं। इस वर्ष अमरीका ने 55,000 से अधिक भारतीय छात्रों को स्टूडेंट वीजा दिया है। इनक्रेड फाइनेंस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि छात्र बैंकों के साथ एनबीएफसी और फिनटेक कंपनियों से विदेश में पढ़ाई के लिए लोन ले सकते हैं। Education Loan के लिए आवेदन करने से पहले छात्रों के पैरेंट्स को कोलेट्रल (बैंक के पास गारंटी रखने के लिए परिसंपत्ति) की व्यवस्था कर लेनी चाहिए।

बच्चों की पढ़ाई के लिए इन स्कीम्स में लगाएं पैसा, मिलेगा मोटा मुनाफा

भविष्य की कमाई बनती है Education Loan चुकाने का आधार

बैंक बाजार के अनुसार बैंक सभी कोर्सेज के लिए Education Loan नहीं देते। अच्छी विदेशी यूनिवर्सिटीज से जॉब ओरिएंटेड लॉन्ग टर्म कोर्स के लिए ही लोन मिलता है। 7.5 लाख से अधिक के एजुकेशन लोन के लिए बैंक कोलेट्रल मांगती है। जबकि, विदेश में एजुकेशन लोन लेने पर कोई कोलेट्रल नहीं देना होता है। विदेशी वित्तीय संस्थाएं छात्रों की होने वाली कमाई के आधार पर लोन देती हैं।

कॅरियर में ग्रोथ चाहिए तो सीखें Foreign Language, ऐसे सीख सकते हैं आसानी से

Education Loan लेकर विदेश में पढ़ाई पर खर्च

  • बैंक ऑफ इंडिया 7.55 से 9.35 फीसदी ब्याज दर पर 80 लाख रुपए तक का लोन देता है।
  • बैंक ऑफ बड़ौदा 7.75 से 8.90 फीसदी ब्याज दर पर 1.5 करोड़ रुपए तक का लोन देता है।
  • यूनियन बैंक 8.40 से 10.5 फीसदी ब्याज दर पर 30 लाख रुपए तक का लोन देता है।
  • पंजाब एंड सिंध 8.60 से 9.10 फीसदी ब्याज दर पर लोन देता है। इसमें लोन की सीमा निर्धारित नहीं की गई है।
  • पीएनबी 8.80 से 9.55 फीसदी ब्याज दर पर लोन देता है। इसमें भी लोन की सीमा निर्धारित नहीं की गई है।
  • फेडरल बैंक 10.05 फीसदी ब्याज दर पर 20 लाख रुपए तक लोन देता है।
  • एचडीएफसी बैंक 11.80 फीसदी ब्याज दर पर एक लाख रुपए से अधिक का लोन देता है।
  • एक्सिस बैंक 13.70 से 15.20 फीसदी ब्याज दर पर 75 लाख रुपए तक का लोन देता है।

Latest News