new banking update
new banking update

वर्तमान समय में प्रत्येक व्यक्ति के पास किसी न किसी बैंक का खाता है ही। जिन लोगों के पास अब तक खाता नहीं था। सरकार ने ‘जन धन योजना’ के तहत उनके खाते भी खुलवा दिए हैं। कुल मिलाकर वर्तमान समय में हर व्यक्ति के पास कम से कम एक खाता जरूर है लेकिन बहुत से लोग आज भी ऐसे हैं। जिनके पास में एक से अधिक खाते हैं। कई बार लोग बैंक ने नए नए ऑफर्स को देखकर खाता खुलवा लेते हैं तो कई बार उनकी कंपनी में सेलरी अकाउंट खोला जाता है। जिसके कारण उनके एक से अधिक खाते हो जाते हैं। इस प्रकार के लोग जिनके एक से अधिक खाते हैं। उनको इसके कई लाभ तो मिलते ही हैं लेकिन कई हानियां भी होती हैं। आज हम आपको बता रहें हैं कि यदि आपके पास में एक से अधिक खाते हैं तो आपकी क्या क्या समस्याएं बढ़ सकती हैं।

1 से अधिक कहते होए पर हो सकती हैं ये समस्याएं

1 . धोखाधड़ी होने की आशंका

एक से ज्यादा खाते होने पर धोखाधड़ी आशंका ज्यादा बढ़ जाती है। असल में ज्यादा खाते होने पर हम उनको मेंटेन नहीं रख पाते हैं। इस कारण वे निष्क्रिय पड़े रहते हैं। ऐसी स्थिति में कोई अन्य व्यक्ति हमारा पैन कार्ड या अन्य कोई कागजात चुरा कर हमारे खातों के साथ धोखाधड़ी कर सकता है।

2 . ITR भरने में समस्या होना

यदि हमारे एक से ज्यादा खाते होते हैं तो हमें उन सभी की डीटेल रखने में समस्या का सामना करना पड़ता है। अतः ऐसे में जब हम ITR भरते हैं तो सभी की डीटेल वहां देनी होती है। जो की हम याद नहीं रख पाते हैं। अतः अधिक खाते होने पर ITR भरने में भी समस्या का सामना करना पड़ता है।

3 . अधिक चार्ज चुकाना

एक से ज्यादा बैंक खाते होने पर उनके चार्ज जैसे SMS चार्ज, डेबिट कार्ड चार्ज आदि भी ज्यादा हो ही जाते हैं। अतः अधिक खाते होने पर हमें चार्ज भी अधिक ही चुकाने पड़ते हैं।

4 . पासवर्ड याद रखने की समस्या

एक से ज्यादा खाते होने पर पासवर्ड भी ज्यादा हो जाते हैं। अतः जब हम पैसे निकालने के लिए जाते हैं तो हमें प्रत्येक खाते का पासवर्ड याद रखना होना होता है। जो की एक समस्या ही है। अतः ज्यादा खाते होने पर पासवर्ड याद रखने की समस्या भी बढ़ जाती है।

Latest News