बार से ज्यादा न लिखें रिज्यूमे में अपनी पर्सनल बातों के बारे में।

वर्तमान में ज्यादातर युवाओं का सपना होता है मल्टीनेशनल कंपनी में बतौर मैनेजर या मैनेजिरियल काम करने का। इसके लिए वे कड़ी मेहनत कर विशिष्ट कॉलेज या यूनिवर्सिटी से डिग्री प्राप्त कर अपनी योग्यता को मजबूत बनाते हैं, साथ ही खुद की पर्सनैलिटी डेवलपमेंट पर भी काम करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है, इस पद की ओर जो सबसे अहम होता है, वह है आपका रिज्यूमे। वैसे तो आजकल हर कोई रिज्यूमे बना लेता है, लेकिन मैनेजर के पद के लिए अप्लाई करना है तो आपको रिज्यूमे बनाते समय अहम बातों को ध्यान में रखना होगा। जानें इन बातों को-

ऐसे बनाएं मैनेजमेंट रिज्यूमे
आपको अपने रिज्यूमे में कौशल और उपलब्धियों पर फोकस करना चाहिए। सही संरचना में शामिल करें – नाम, कॉन्टेक्ट नम्बर, रिज्यूमे का उद्देश्य, सारांश, कौशल सूची, प्रासंगिक प्रमाणपत्र व योग्यता, कार्यानुभव और शिक्षा आदि। इन बिंदुओं में फालतू की कोई लंबी-चौड़ी बात लिखने के बजाय जरूरी और तथ्यात्मक बातों को ही शामिल करें। इसके साथ ही प्रमुख स्किल्स के अलावा सॉफ्ट स्किल्स के बारे में जरूर बताएं। जैसे लीडरशिप, कम्यूनिकेशन, टीमवर्क, टाइम मैनेजमेंट आदि। शिक्षा की जानकारी के तहत प्रमुख कोर्स व यूनिवर्सिटी को हाइलाइट करें।

इन कमियों को दूर करें
मै नेजिरियल पद के रिज्यूमे को कई कारणों से रिजेक्ट किया जाता है जैसे रिज्यूमे में लंबी-चौड़ी बातें लिखी हों, स्किल्स व योग्यता से जुड़ी तथ्यात्मक बातें न होना, कंपनी के लिए आपके योगदान व उद्देश्य का जिक्र न होना, जैसी बातें रिज्यूमे को कमजोर बना सकती हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *