NEW DELHI: अपना खुद का घर होना हर एक व्यक्ति का सपना होता है। अक्सर लोग अपना घर बनाने के लिए लंबे समय तक पैसा इकट्ठा करते हैं। वहीं कुछ लोग अपने सपनों का घर बनाने के लिए बैंक से होम लोन लेते हैं। होम लोन लेना लंबे समय के लिए वित्तीय जिम्मेदारी है। क्योंकि इसका भुगतान लंबे समय के लिए किया जाता है। ऐसे में एक समय के बाद होम लोन की ईएमआई भारी बोझ लगने लगती है। आज हम आपको ऐसे पांच तरीके बताएंगे जिनके जरिए आप अपने होम लोन के बोझ को कम कर सकते हैं।

1) करें प्री पेमेंट

फाइनैंशल प्लानर्स यह सलाह देते हैं कि अगर आप प्री-पेमेंट के विकल्प को चुनते हैं तो इससे आप बहुत जल्द अपना होम लोन खत्म कर सकते हैं। प्री-पेमेंट करने का तरीका यह है की जैसे ही आपके पास कुछ रुपए इकट्ठे हो जाते हैं, तो आप उससे प्री-पेमेंट कर दीजिए। ऐसा करने से आपका प्रिंसिपल अमाउंट कम हो जाएगा, जिसके जरिए आप लोन की ड्यूरेशन या ईएमआई में कमी ला सकेंगे। बता दें कि आरबीआई के नियमों के अनुसार बैंक या एनबीएफसी फ्लोटिंग रेट पर लोन लेने वाले किसी भी इंडिविजुअल होम लोन बॉरोअर से प्री-पेमेंट के लिए किसी भी प्रकार की पेनल्टी नहीं ले सकते।

2) Home Loan Balance Transfer

बहुत से लोगों को यह जानकारी नहीं होती कि आप अपने होम लोन बैलेंस ट्रांसफर भी कर सकते हैं। यदि आपने A बैंक से लोन लिया है और आपको दिखता है कि B बैंक आपको ज्यादा अट्रैक्टिव रेट पर होम लोन उपलब्ध करवा रहा है तो ऐसी स्थिति में आप अपना बैलेंस ट्रांसफर B बैंक में कर सकते हैं। आपको बता दें कि यह आपका आखिरी विकल्प भी होना चाहिए। क्योंकि बैलेंस ट्रांसफर करने के लिए आपको एक प्रोसेसिंग फीस देनी पड़ती है।

3) ज्यादा ईएमआई दीजिए

बहुत से ऐसे लैंडर्स मौजूद है जो आपको सालाना आधार पर इंस्टॉलमेंट्स रिवाइज करने का ऑप्शन प्रदान करते हैं। यदि आप ने हाल ही में अपनी नौकरी बदली है या फिर आपका प्रमोशन हुआ है जिससे आपकी सैलरी अब पिछले साल से ज्यादा बढ़ गई है। और अब आप ज्यादा ईएमआई का भुगतान करने में सक्षम है, तो आपको अपनी ईएमआई बढ़वा लेनी चाहिए। ऐसा करने से आप अपने लोन की अवधि को कम करवा सकेंगे। एक बार आपके होम लोन की ड्यूरेशन कम हो गई, तो आप के लोन के कुल कॉस्ट में भी काफी अधिक राशि की कमी आ जाएगी।

4) home loan की अवधि में लाएं कमी

किसी भी लोन की लागत इस बात पर निर्भर करती है कि आप कितने साल का लोन ले रहे हैं। 25 से 30 साल की अवधि वाले लोन लेने पर आपके मासिक इंस्टॉलमेंट में कमी आ जाती है और आप ज्यादा लोन ले पाते हैं। वहीं दूसरी तरफ अगर आप 10 से 15 साल के लिए लोन लेते हैं, तो आपको कम ब्याज देना होता है और आपका लोन भी जल्द खत्म हो जाता है।

5) ज्यादा करें डाउन पेमेंट

अगर आप बैंक लोन लेने की योजना बना रहे हैं तो यह आपके बड़े काम की बात है। ज्यादातर बैंक प्रॉपर्टी की कुल वैल्यू के 75 से 90 प्रतिशत तक की रकम पर लोन दे देते हैं। ऐसे में आप 10 से 25 फीसदी रकम का भुगतान कर घर खरीद सकते हैं। यदि आपके पास सेविंग पड़ी है तो आपको कम से कम कीमत वाला लोन ही लेना चाहिए। ऐसा करने से आप के ऊपर लोन का बोझ कम पड़ता।

Latest News