नई दिल्ली। वृद्धावस्था के दौरान बुजुर्गों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस उम्र के पड़ाव में आने के बाद कई तरह की जरूरतें इंसान को पड़ती है जिनका समाधान कभी-कभी परिवार के लोग नही कर पाते है इन्ही परेशानियों को देखते हुए सरकार की ओरसे सीनियर सिटीजन कार्ड बनाया गया है। इस कार्ड का लाभ 60 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिक ही उठा सकते है। जिसे सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड भी कहा जाता हैं। यह कार्ड एक तरह का पहचान पत्र है जो कार्डधारक की डिटेल बताता है. इस कार्ड की मदद से सीनियर सिटीजन को कई तरह की सुविधाएं मिलती  हैं. सरकारी के साथ ही प्राइवेट स्कीम का लाभ भी इस कार्ड की बदौलत सीनियर सिटीजन को मिलता है। आइए जानें कि सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड कैसे बनता है.

सीनियर सिटीजन कार्ड राज्य सरकारें अपने स्तर पर बनाती हैं। इसके लिए राज्य सरकार की ऑनलाइन वेबसाइट पर अप्लाई करना होता है। एप्लिकेशन के साथ कुछ कागजात भी देने होते हैं ताकि आवेदन के वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी की जा सके।

1-एज प्रूफ के लिए पासपोर्ट, पैन कार्ड, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट जैसे दस्तावेज दे सकते हैं

2-निवास प्रमाण पत्र के कागजात

राशन कार्ड, पासपोर्ट, इलेक्शन कार्ड, बिजली या फोन का बिल जैसे वैध दस्तावेज दे सकते हैं जो आवेदक के नाम से हो।

3-मेडिकल इनफॉर्मेशन कागजात के लिए ब्लड रिपोर्ट, मेडिकेशन और एलर्जी की रिपोर्ट देनी होती है

कैसे करते हैं अप्लाई

सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड बनाने के लिए राज्य सरकार की वेबसाइट http://www.delhipolice.nic.in/seniorcitizen/index.html पर क्लिक कर सकते  हैं। यदि आप दिल्ली में रहते हैं और दिल्ली का सीनियर सिटीजन आईडी कार्ड बनवाना चाहते हैं तो इस लिंक इसी तरह अन्य राज्य सरकारों की ऑनलाइन वेबसाइट पर भी फॉर्म उपलब्ध हैं जहां इसे भरकर अप्लाई किया जा सकता है।

आवेदक को अप्लाई करने के दौरान दो फोटोग्राफ और पते के प्रमाण की एक कॉपी और एक आयु प्रमाण दस्तावेज के साथ आवेदन पत्र को रजिस्टर और जमा करना होगा. इसके बाद, आवेदक को पंजीकरण कराना होता है। इसके बाद पंजीकरण प्रक्रिया पूरी करने क बाद आवेदन की मंजूरी और दस्तावेजों के वेरिफिकेशन के बाद वरिष्ठ नागरिक पहचान पत्र प्राप्त होगा।

सीनियर सिटीजन कार्ड का फायदा

सीनियर सिटीजन कार्ड बन जाने के बाद आवेदक कर्ता को सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज और सरकारी अस्पतालों में रियायती दर पर इलाज दिया जाता है. रेलवे में किराये में रियायत दी जाती थी, लेकिन अभी बंद है। फ्लाइट टिकट में रियायत दी जाती है। इनकम टैक्स अन्य लोगों की तुलना में कम लगता है, कुछ मामलों में रिटर्न भरने से छूट मिलती है। एफडी पर जनरल पब्लिक से अधिक ब्याज मिलता है। पोस्ट ऑफिस इनवेस्टमेंट स्कीम में आम लोगों की तुलना में अधिक लाभ और सुविधाएं मिलती हैं। सरकारी कंपनी एमटीएनएल और बीएसएनएल के लिए अप्लाई करने पर रजिस्ट्रेशन चार्ज में छूट और मंथली रेंटल चार्ज में भी छूट दी जाती है।

Latest News