Digital Currency
Digital Currency

Digital Currency:  अभी हाल RBI ने एक बहुत बड़ी शुरुआत की है. दरअसल अब भारतीय रिजर्व बैंक डिजिटल करेंसी के पायलट प्रोग्राम को तेजी से बहुत आगे बढ़ा रहा है. इसका यूज़ ट्रांजैक्शन के लिए किया जा रहा है, लेकिन अब बहुत जल्द इसे रिटेल ट्रांजैक्शन में लागू किया जाएगा. दरअसल पायलट प्रोग्राम के दौरान भी रिजर्व बैंक ने पांच में से चार बैंकों को इस बात की जानकारी दी है जिन्हें सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी के रिटेल ट्रांजैक्शन का प्रोजेक्ट दिया जाने वाला है. जी हाँ अगर आप भी उन 4 बैंक में बैंक धारक है तो आपके लिए बड़ी खुशखबरी है.

RBI के द्वारा की की जाने वाली प्लानिंग

आपकी जानकारी के लिए बता दे रिटेल सीबीडीसी पायलट के हिसाब से 5 बैंकों को शॉर्टलिस्ट किया गया है. इन बैंकों के साथ नेशनल पेंमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और आरबीआई की बहुत अहम होगी . मिली जानकारी के हिसाब से कुछ ग्राहकों और मर्चेंट के अकाउंट से रिटेल डिजिटल रुपये का पायलट प्रोग्राम शुरू किया जाएगा.

ये है वो चार बैंक

असल में रिटेल सीबीडीसी के लिए चुने गए बैंकों में से एक बैंक है एचडीएफसी बैंक जिसके कुल ग्राहकों की तादाद 680 लाख है. हमारे देश में इस बैंक की 6342 शाखाएं हैं. कहा जाता है कि ये बैंक प्राइवेट सेक्टर का सबसे बड़ा बैंक है. इस बैंक के बाद नाम आता है आईसीआईसीआई बैंक का. बात अगर आईसीआईसीआई बैंक की करें तो ये भी भारत के एक प्रमुख निजी क्षेत्र बैंक है.

वही रिटेल सीबीडीसी के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का भी नाम सामने आया है. आपको तो पता ही होगा कि स्टेट बैंक देश का एक सरकारी बैंक है और साथ ही ये देश का सबसे बड़ा बैंक है. चलिए अब आपको बताते है कि आखिर ये डिजिटल करेंसी क्या है.

क्या है डिजिटल करेंसी

बता दे डिजिटल रु दो तरह का लॉन्च होगा. एक डिजिटल रु बड़ी रकम के लेनदेन के लिए बनाया जाएगा जिसका नाम सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी व्होलसेल होगा. इसका यूज़ बड़े वित्तीय इंस्टीटूशन जैसे की बैंक, बड़ी नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां और दूसरे बड़े सौदे करने वाले संस्थान होंगे .

Latest News