पिछले एक साल में म्यूचुअल फंड में निवेश करने वालों की संख्या बढ़ी है। बीते कुछ समय में म्यूचुअल फंड ने अच्छा रिटर्न भी दिया है। अगर आप भी म्यूचुअल फंड में निवेश की योजना बना रहे हैं, तो कुछ बातों का ध्यान रखें…

एसआइपी
म्यूचुअल फंड मेंं एक साथ बड़ा निवेश करने की जगह सिस्टमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान यानी एसआइपी के जरिए इंवेस्ट करें। एसआइपी के जरिए हर माह एक तय कीमत इसमें लगाते हैं। इससे बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव का ज्यादा असर नहीं पड़ता।

लॉन्ग टर्म निवेश
म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय ध्यान रखें कि इसका फायदा चाहिए, तो लॉन्ग टर्म इंवेस्टमेंट जरूरी है। एक्सपर्ट कहते हैं, कम से कम ५ साल के लिए निवेश करें। छोटे समय में शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का असर आपके निवेश पर ज्यादा पड़ सकता है, जबकि लंबे समय में यह खतरा कम हो जाता है।

निवेश की जांच करें
निवेश करने के बाद इसकी ट्रैङ्क्षकग जरूरी है। यह पता करना जरूरी है कि आपने जिस कंपनी के लिए निवेश किया है, वह कैसा प्रदर्शन कर रही है। म्यूचुअल फंड मंथली और क्वार्टरली फैक्ट शीट और न्यूजलेटर जारी करता है। इससे यह जान सकते हैं कि उसका प्रदर्शन कैसा है।

निवेश बंद न करें
निवेश करने के बाद कई बार फंड में उतार-चढ़ाव देखने को मिलते हैं, इससे डरें नहीं। कोरोनाकाल में भी ऐसा ही हुआ था। ऐसा होने पर निवेश करना बंद न करें। कम से कम ५ साल तक निवेश करें और रिटन्र्स को देखें व समझें।

Latest News