Friday, January 27, 2023
HomeEducationकोर्ट ने दिया चौंकाने वाला आदेश, थर्ड ग्रेड शिक्षक भर्ती में BSTC,...

कोर्ट ने दिया चौंकाने वाला आदेश, थर्ड ग्रेड शिक्षक भर्ती में BSTC, और B.ED उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन

नई दिल्लीः बेरोजगारी के दौर में देश के नवयुवक नौकरी व रोज़गार के लिए परेशान हैं। ऐसे में यदि मौका सामने आने के बाद छोटी सी शर्त उनकी राह में रोड़ा बने तो ये बेरोज़गारों के साथ अन्याय होगा। इसी को देखते हुए राजस्थान हाई कोर्ट ने बीएड और बीएसटीसी की पढ़ाई कर रहे युवाओं के लिए बड़ा राहत भरा निर्णय लिया है। हाई कोर्ट ने जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए ये आदेश दिया है कि BSTC, और B.ED की पढ़ाई कर रहे ऐसे छात्र जो पाट्यक्रम के अंतिम वर्ष में अध्ययनरत हैं वे कोर्ट के आदेश के बाद REET की मुख्य परीक्षा में शामिल हो पाएंगे। इससे पहले राजस्थान के लाओं युवाओं की आवाज़ बन कर बाड़मेर पीजी कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष एवं जिला परिषद सदस्य नरपतराज मूढ़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मांग की थी कि BSTC, B.ED में अध्ययनरत अंतिम वर्ष के छात्रों को अध्यापक भर्ती मुख्य परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दिलाई जाए।

इस पर सरकार का कोई जवाब आता इससे पहले राजस्थान हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए रीट लेवल तीन की परीक्षा को लेकर एक बड़ा आदेश सुना दिया है। राजस्थान हाईकोर्ट ने अपने आदेश में साफ निर्देश दिया है कि बीएड और बीएसटीसी में पढ़ने वाले अंतिम वर्ष के सभी अभ्यार्थियों के लिए आगामी तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती-2022 की परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति प्रदान की जाए। आपको बतादें रीट पात्रता परीक्षा पास कर चुके अभ्यर्थियों को शिक्षक बनने के लिए अध्यापक मुख्य भर्ती परीक्षा पास करना अनिवार्य होगा।

हालांकि अभ्यर्थियों ने लंबे समय से मांग की थी लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई, पर कोर्ट के आदेश के बाद सभी अभ्यार्थियों को बड़ी राहत मिली है। अब ऐसे अभ्यर्थी जिन्होंने जुलाई में आयोजित रीट पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है और NCTE की गाइडलाइन के अनुसार शिक्षक भर्ती के लिए वे पात्र होंगे जिनकी अगस्त 2023 तक डिग्री पूरी हो जाएगी।

इतना ही नहीं हाई कोर्ट ने राजस्थान के शिक्षा सचिव, प्रारंभिक शिक्षा निदेशक और कर्मचारी चयन बोर्ड के सचिव से भी जवाब मांगा है। ये आदेश जस्टिस सुदेश बंसल की एकलपीठ ने प्रदीप चौधरी व अन्य लोगों की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है।

याचिका कर्ता की ओर से आदालत को अधिवक्ता रामप्रताप सैनी ने बताया कि कर्मचारी चयन बोर्ड ने 16 फरवरी को तृतीय श्रेणी शिक्षकों के 48 हजार पदों पर भर्ती निकाली, जिसमें ऐसा प्रावधान किया गया है कि आवेदन करने वाले अभ्यार्थियों की, ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि तक सभी मांगी गई योग्यताएं पूरी होनी चाहिए।

याचिका कर्ताओं ने कोर्ट को बताया कि पूर्व में आयोजित स्कूल व्याख्याता भर्ती और द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती में भी प्रतियोगी परीक्षा से पूर्व शैक्षणिक योग्यता पूरी होने की मांग की गई थी। जबकि चयन बोर्ड को आवेदन की अंतिम तिथि की बजाए परीक्षा आयोजित होने की तिथि तक शैक्षणिक योग्यता पूरी होने की शर्त रखनी चाहिए, यदि ऐसा होता है तो लाखों अभ्यार्थी और याचिकाकर्ता तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा से पूर्व बीएड और बीएसटीसी पढ़ाई पूरी कर लेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments