बार बार दोहराएं
५-६ साल तक की उम्र वाले बच्चों को एकदम से कुछ भी याद नहीं होता। ऐसे में होमवर्क पूर्ण होने के बाद खाना खिलाते या झूला झुलाते समय गिनती और अन्य शब्दों को बार-बार बुलवाएं। इससे उन्हें चीजों को याद रखने में आसानी होगी और स्किल्स में सुधार होगा।

मोबाइल उपयोगी
आजकल हर उम्र के बच्चे व बड़ों को आमतौर पर मोबाइल फोन में वीडियो देखने और गेम खेलने की लत लग गई है। आप चाहें तो बच्चों के लिए मोबाइल में ही पोयम या अन्य स्टडी मैटेरियल का वीडियो चला सकता है। इसे टीवी से भी कनेक्ट कर सकते हैं ताकि आंखों पर जोर न पड़े।

खेल-खेल में सिखाएं
यदि बच्चा कॉपी में वर्क करना ज्यादा पसंद नहीं करता है तो इसका विकल्प है कि आप खेल-खेल में उसे कई चीजों को सिखाएं। आजकल कई सारे ऐसे खिलौने उपलब्ध हैं जिनसे अल्फाबेट, काउंटिंग या पिक्चर लर्निंग को सीखा, समझा और याद किया जा सकता है।

Latest News