भारत ही नहीं बल्कि विश्वभर के देशों में ऐसी साइट्स व पोर्टल की संख्या लगातार बढ़ रही हैं, जिनमें खरीदारी से लेकर टीकाकरण तक की सेवाएं ऑनलाइन संभव है। भारतीय ऑनलाइन मार्केटिंग का क्षेत्र दिन ब दिन व्यापक होता जा रहा है, हर कोई ऑनलाइन कार्य पर निर्भर हो गए हैं। ऐसे में कॅरियर के लिहाज से ऑनलाइन मार्केटिंग एक्सपर्ट नए जमाने का क्षेत्र है। जमी हुई वेबसाइट्स पर ऑनलाइन कामकाज को संभालने के लिए ऐसे ही एक्सपर्ट की डिमांड है, जो इससे संबंधी मामले देख सकते हैं।

२५-३०
हजार मासिक तौर पर कमा सकते हैं छात्र। हायर एजुकेशन के बाद ३०-५० हजार कमाए जा सकते हैं।

कॅरियर के विकल्प
भ विष्य में ऑनलाइन मार्केटिंग का बाजार 2021 में लगभग 76 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। जरूरतों के अनुरूप कुशल लोगों की टीम तैयार करना जरूरी है। इसमें डाटा एनालिस्ट, लॉजिस्टिक्स सर्विस, सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजर, सोशल मीडिया मैनेजर शामिल हैं।

कोर्सेज जो हैं खास
इ स क्षेत्र में सेल्स, इंवेंट्री मैनेजमेंट, डिस्ट्रिब्यूशन व कस्टमर सर्विस, ई-बिजनेस सिक्योरिटी, परचेज कस्टमर सर्विस, लॉजिस्टिक जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं। विभिन्न संस्थानों से एमबीए, यूजी, पीजी, डिप्लोमा व सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं।

जानिए योग्यता
ती न वर्षीय ग्रेजुएशन कोर्स के लिए ५० फीसदी अंकों के साथ इंटरमीडिएट उत्तीर्ण हो। वहीं पीजी कोर्स में प्रवेश के लिए छात्र को ग्रेजुएशन या समकक्ष पास होना चाहिए। एमबीए इन ई कॉमर्स व एमएससी इन ईकॉमर्स कुछ ही संस्थानों में कराया जाता है। कुछ संस्थान शॉर्ट टर्म कोर्स कराते हैं।

यहां से करें कोर्स
इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, हैदराबाद, आइआइएम अहमदाबाद, आइआइएम बैंगलुरू, आइआइएम लखनऊ, राजस्थान यूनिवर्सिटी आदि ऐसे प्रमुख संस्थान हैं, जहां से इस कोर्स को कर सकते हैं।

Latest News