Saturday, February 4, 2023
HomeHealthViruddh Aahar: भूलकर भी ना करें करेला के साथ भिंडी का सेवन,होगा...

Viruddh Aahar: भूलकर भी ना करें करेला के साथ भिंडी का सेवन,होगा ये बड़ा नुकसान

नई दिल्ली। आज के समय में शुगर की बीमारी हर किसी एक घर में देखने को मिल रही है। और इस बीमारी का सबसे खास इलाज हमें घर की सब्जियों में ही देखने को मिल जाता है। बढ़ते ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए हम करेले का जूस लेते है जो सबसे बेहतर माना जाता है। कहा तो यह भी जाता है कि भिंड़ी का सेवन करने से शुगर कंट्रोल में बना रहता है। लेकिन यह बात भी सच है कि करेले का सेवन भले ही दूसरी कई चीजों के लिए जहां फायदेमंद हैं तो वहीं, भिंड़ी के साथ इका सेवन बीमारियों का बड़ा खतरा साबित हो सकता है। आयुर्वेद में इन दोनों सब्जियो को विरूद्ध आहार (Viruddh Aahar) में गिना जाता है और इसीलिए इनका सेवन एक साथ करने से स्वास्थ्य को खतरा पैदा हो सकता है।

ना करें भिंडी और करेला सेवन

भिंडी और करेला का सेवन एक साथ लोग बहुत कम ही करते है क्योकि दोनों के स्वाद में काफी अंतर होचा है। लेकिन जानकारी के लिए भी बता दें कि इन दोनों का सेवन एक साथ नही करना चाहिए। एक साथ खाने से आपका डाइजेस्टिव सिस्टम खराब हो सकता है। आयुर्वेद के अनुसार करेला और भिंडी (eating bhindi and karela together) एक साथ खाने से पाचन तंत्र उन्हें पचा नहीं पाता। जिससे पेट फूलने (bloating) और पेट में भारीपन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

मूली के साथ भी नहीं खाना चाहिए करेला

सर्दियों में मिलनेवाली मूली की चटनी (Mooli ki chutney) या सलाद खाना हर किसी के बेहद ही पसंद होता है। लेकिन, अगर आप इसके साथ ही करेले की सब्जी खा रहे हैं तो उस समय मूली का सेवन आपके लिए घातक हो सकता है। दरअसल, मूली (radish) और करेला की तासीर अलग-अलग होती है। इसीलिए जब इन दोनों सब्जियों को एक साथ खाया जाता है तो इससे शरीर में तापमान असंतुलित हो जाता है और इस तरह गले में खराश, कफ और पेट से जुड़ी समस्याएं (digestive problems) हो सकती हैं।)

करेला और दूध का सेवन से हो सकती हैं त्वचा से जुड़ी समस्याएं

दूध और दूध से बनी चीजें जैसे पनीर, चीज और दही का सेवन करेले के साथ भूलकर भी नही करना चाहिए। करेला खाने के बाद दूध पीना या दूध से बनी चीजों को खाने से डाइजेस्टिव सिस्टम से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं इससे पेट में दर्द, कॉन्स्टिपेशन (constipation) और इंफ्लेमेशन (inflammation) जैसी परेशानियां बढ़ सकती हैं जिससे त्वचा संबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments