Booster dose: स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बूस्टर डोज के लिए डॉक्टर से कोई प्रमाण पत्र जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा कि 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी व्यक्तियों को बूस्टर डोज के लिए डॉक्टर से कोई प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं होगी।

मंत्रालय ने कहा, “ऐसे व्यक्तियों से अपेक्षा की जाती है कि वे एहतियाती खुराक लेने का निर्णय लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लें।” मंत्रालय ने सोमवार को 15 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के टीकाकरण और स्वास्थ्य कर्मियों , फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन के लिए दिशानिर्देश जारी किए।

मंत्रालय ने द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, जिन स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम पंक्ति के कर्मियों को दो खुराकें मिली हैं, उन्हें 10 जनवरी 2022 से टीके की एक और खुराक दी जाएगी। “इस वैक्सीन की प्राथमिकता और अनुक्रमण दूसरी खुराक के प्रशासन की तारीख से 9 महीने यानी 39 सप्ताह के पूरा होने पर आधारित होगा। 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी व्यक्ति जिन्हें कॉमरेडिडिटीज हैं, जिन्हें कोविड -19 वैक्सीन की दो खुराक मिली हैं, 10 जनवरी 2022 से डॉक्टर की सलाह पर एहतियाती खुराक प्रदान की जाएगी। इस एहतियाती खुराक की प्राथमिकता और अनुक्रमण दूसरी खुराक के प्रशासन की तारीख से 9 महीने यानी 39 सप्ताह के पूरा होने पर आधारित होगा, “दिशानिर्देशों में कहा गया है।

Latest News