Corona Ki Tisri Lahar: इंडिया में कोरोना के बढ़ते मामलों पर संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी जारी की है। यूएन की रिपोर्ट के मुताबिक डेल्टा वैरिएंट से इंडिया में 2.4 लाख लोगों की मौत हुई थी। अगर सरकार ने उचित कदम नहीं उठाये तो उससे भी बुरी स्थिति इस लहर में देखने को मिल सकती है। तीसरी लहर में स्थिति काबू करना नामुमकिन होगा। क्योंकि ओमीक्रॉन और डेल्टा की मिक्स्चर तीव्र गति से फैलता है।

यूएन की वर्ल्ड इकोनॉमिक सिचुएशन एंड प्रोसपेक्ट्स (WESP) 2022 ने रिपोर्ट जारी करके बताया है कि Omicron संक्रमण की नई लहरें बन रही हैं और अर्थव्यवस्थाओं को प्रभावित करने में इनका बहुत बड़ा योगदान होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में डेल्टा की जानलेवा लहर ने 2.4 लाख जिंदगियां खत्म कर दी थी।

कोरोना वायरस संक्रमण को आगे बढ़ने से रोकने के लिए अभी से पुख्ता इंतजामात करने होंगे। क्योंकि यह पूरे दक्षिण एशिया परेशानियों में डाल सकता है। यहां कोरोना वैक्सीनेशन ने काफी हद तक पहुँच तो बना ली है।

भारत में ओमीक्रॉन ने बढ़ाई गर्मी
भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि वैक्सीन की 154 करोड़ से ज्यादा डोज पब्लिक को लग चुकी हैं। भारत में कोरोना की दूसरी लहर जैसे हालात नहीं बने, इसके लिए स्वास्थ्य सिस्टम भी पूरी मुस्तैदी के साथ अलर्ट पर है। भारत में तेजी से बढ़ रहे ओमिक्रॉन और कोरोना के केस चिंता का विषय है।

यूएन की रिपोर्ट के मुताबिक, दिसंबर 2021 तक नेपाल, पाकिस्तान और बांग्लादेश में 26% और भूटान, मालदीव, श्रीलंका में 64% को ही वैक्सीन लगी है। ऐसे में इन देशों के हालात तो और भी बदतर हो जाएंगे।

Latest News