Roadways Conductor Bharti 2022
Roadways Conductor Bharti 2022

रोडवेज परिचालक भर्ती के 10वीं और 12वीं पास फॉर्म भर सकते हैं। रोडवेज परिचालक पद के लिए कंडक्टर का लाइसेंस और बैज जरुरी है। परिचालक लाइसेंस के लिए बेहद जरुरी दस्तावेज होता है प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण। उम्मीदवार को प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण पत्र के साथ ही मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट भी दे दिया जाता है। रोडवेज भर्ती में महिला उम्मीदवारों को भी आरक्षण देय है।

रोडवेज कंडक्टर लाइसेंस के लिए कौन कौनसे डाक्यूमेंट्स चाहिए?
रोडवेज कंडक्टर लाइसेंस बनवाने के लिए उम्मीदवार को उसके शैक्षणिक दस्तावेज, मूल निवास और फोटो के साथ प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण पत्र भी चाहिए। प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण पत्र देने वाली संस्था से ही मेडिकल सर्टिफिकेट भी दिया जाता है।

रोडवेज कंडक्टर लाइसेंस को रिन्यू करवाने के लिए भी प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण पत्र और मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट देना होता है।

प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं
प्राथमिक चिकित्सा ड्राइवर और कंडक्टर को आनी बेहद जरुरी है। इसके लिए रेडक्रॉस हॉस्पिटल से st. john ambulance प्राथमिक चिकित्सा का प्रशिक्षण ले सकते हैं। यह ट्रेनिंग कोर्स 4 दिन का होता है। सोमवार को फर्स्ट ऐड ट्रेनिंग के लिए शुल्क भुगतान करके आवेदन किया जा सकता है। ट्रेनिंग के अंतिम दिन प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण प्रमाण पत्र और मेडिकल सर्टिफिकेट दे दिए जाते हैं। प्रमाण पत्र की शुरुआती वैद्यता 6 महीने की है। इसके बाद इसे दो बार रिन्यू करवाकर आजीवन भी करवा सकते हैं। चिकित्सा प्रमाण पत्र डाक द्वारा घर पर भेजा जाता है। आवेदन फॉर्म सिर्फ सोमवार को ही भरे जाते हैं।

रोडवेज कंडक्टर का लाइसेंस कैसे बनवाएं
रोडवेज परिचालक लाइसेंस बनवाने के लिए आपको 1 महीने से ऊपर का समय लगेगा। इसके लिए सबसे पहले जरुरी है कि आप प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण लेवें। रेडक्रॉस द्वारा प्रशिक्षण पश्चात सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा। प्राथमिक चिकित्सा प्रमाण पत्र और मेडिकल सर्टिफिकेट के साथ सभी शैक्षणिक दस्तावेज और फोट लेकर जिला परिवहन कार्यालय में आवेदन करना होगा। आवेदन फॉर्म को भरने के बाद रसीद कटवानी होगी। शुल्क भुगतान की रसीद को फॉर्म के ऊपर अटैच करके जिला परिवहन अधिकारी के समक्ष पेश करना होगा। जहां से अधिकारी द्वारा मार्क किया जाएगा। जिला परिवहन कार्यालय द्वारा पहले प्रोसेस में पुलिस वेरिफिकेशन भेजा जाएगा। पुलिस द्वारा जारी चरित्र प्रमाण पत्र जारी किए जाने के बाद फिर से जिला परिवहन अधिकारी के पास आवेदन जाएगा। इसके बाद जिला परिवहन अधिकारी अपने हस्ताक्षर करके अप्रूवल दे देगा। परिवहन अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर के बाद परिचालक लाइसेंस बना दिया जाता है, जो घर के एड्रेस पर पहुँचने के लिए एक महीने का अधिकतम समय लेता है।

रोडवेज कंडक्टर लाइसेंस के साथ बैज भी दिया जाता है। बैज नहीं होने की स्थिति में लाइसेंस पर बैज नंबर वाले स्थान पर out of stock लिख दिया जाता है।

Latest News