स्मार्ट फोन की खासियत है कि इसमें लगभग सभी काम तेजी से और आराम से हो जाते हैं। लेकिन यदि यह धीमी गति से चल रहा है तो इसके पीछे कारण जानने की जरूरत आपको है।

केवल पुराने फोन ही नहीं बल्कि यूजर को नए फोन के स्लो काम करने की परेशानी का सामना भी करना पड़ता है। वैसे तो स्मार्टफोन के स्लो काम करने के कई कारण हैं लेकिन एक प्रमुख कारण में शामिल है फोन में मौजूद ऐप, उनकी संख्या और उनकी परफॉर्मेंस। जानें इनके बारे में-

ऐप्स की बढ़ी हुई साइज बढ़ाती है स्टोरेज
फोन के हैंग होने के मामले में फोन में मौजूद ऐप्स अहम वजह हैं। ये फोन की स्टोरेज को घेर लेते हैं। आमतौर पर किसी भी ऐप को डाउनलोड करते समय उनका साइज ४० से ५० एमबी के आसपास होता है, लेकिन लगातार इन्हें इस्तेमाल करते रहने से इनकी स्टोरेज कैपिसिटी में इजाफा हो जाता है और ये ४०० से ५०० एमबी तक के स्पेस पर भी कब्जा कर लेते हैं। इसके लिए फोन की सेटिंग में जाकर स्टोरेज/मेमोरी के विकल्प पर क्लिक करें। यहां स्टोरेज लिस्ट ओपन होते ही देखें कि कौनसा कंटेंट फोन के स्पेस को कवर कर रहा है। यहां मेमोरी यूज्ड बाय ऐप्स पर जाकर लिस्ट में रैम की ४ इंटरवल्स में ऐप यूसेज दिखेगी। इससे आपको पता चल जाएगा कि किस ऐप के कारण फोन स्लो काम कर रहा है। यदि ऐप काम का है तो कैशे क्लियर करें।

ऐप्स के लाइट वर्जन
मोबाइल की स्लो स्पीड से छुटकारा पाने के लिए फोन में प्रयेाग किए जाने वाले ऐप्स के लाइट वर्जन का यूज कर सकते हैं। इससे स्पीड तो बढ़ेगी और फोन हैंग भी नहीं होगा। विभिन्न तरह की सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट्स के लाइट वर्जन के प्रयोग से फोन का स्पेस ज्यादा नहीं घिरता है।

फ्री वाइफाइ से कीजिए अपना फोन कनेक्ट !
कई बार नेटवर्क की सीमा में न होने पर फोन में इंटरनेट नहीं चलता। कुछ ऐप से आप नजदीक में मौजूद फ्री वाइफाइ को एक्सेस कर सकते हैं।

स्विफ्ट वाइफाइ
य ह ऐप करोड़ों ऐसे वाइफाइ प्वॉइंट्स उपलब्ध कराता है जिनकी जानकारी यूजर्स शेयर करते हैं। ट्रेवलिंग कर रहे हैं तो यह काम का साबित होगा। इन प्वॉइंट्स की जानकारी ऐप में इसकी एक्टिव कम्यूनिटी की वजह से है। यहां यूजर्स प्रोटेक्टेड वाइफाइ हॉटस्पॉट्स के पासवर्ड की जानकारी भी देते हैं। हालांकि इनका प्रयोग कई बार जोखिमभरा हो सकता है। ऐप में सेफ्टी टेस्ट फंक्शन भी दिया गया है। एंड्रॉइड के लिए इसे यहां से डाउनलोड करें –

वीफाइ व वाइपासवर्डकी
वीफाइ ऐेप पर दुनिया के प्रमुख शहरों में फ्री वाइफाइ मिल जाएंगे। यह भी यूजर बेस्ड डेटाबेस की तरह है जिसे मैप के रूप में भी देख सकते हैं। सर्चिंग को नैरो करने के लिए इसके फिल्टर्स उपयोगी हैं एंड्रॉइड के लिए इसे द्धह्लह्लश्च://ड्ढद्बह्ल.द्य4/ह्लद्गष्द्धद्दह्वह्म्ह्व३०३ से फ्री में इंस्टॉल कर सकते हैं। इसी तरह से वाइपासवर्डकी ऐप में सभी वाइफाइ पासवर्ड ऑटोमेटिकली एंक्रिप्टेड होते हैं और इन्हें आप फोन में वाइफाइ के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

Latest News