masood
masood

पाकिस्तान में भारत के द्वारा की गई एयर सर्जिकल स्ट्राइक में जैश ए मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर मारा गया है। पकिस्तान तिलमिला गया था लेकिन पुष्टि अभी तक नहीं कर पाया। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने जब बहुत बीमार बताया था तभी से अंदाजा लगाया जा सका था की कुछ तो गड़बड़ है। रिपोर्ट के मुताबिक रावलपिंडी के अस्पताल में मारा गया है। लेकिन इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के अनुसार यह कहा जा रहा है कि हिन्दुस्तान द्वारा कि गई एयर स्ट्राइक के वक्त मसूद अजहर कैंप में सो रहा था। कैंप में सोते हुए ही मौत हो गई थी या घायल को भर्ती कराया गया था।

ऐसे मरा मसूद अजहर
हिन्दुस्तान की कार्यवाही में ही मारा गया था मसूद अजहर लेकिन उस वक्त वो गंभीर घायल भी हो सकता है जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। बीमार की पुष्टि तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कर दी थी लेकिन कैंप पर अटैक में मौत हुई थी। इंटेलिजेंस ने यह साफ़ कर दिया है कि मसूद अजहर मारा गया है। आतंकियों पर कार्यवाही में भारत को यह बड़ी सफलता हाथ लगी है। पाकिस्तान द्वारा बोखलाए जाने और एयर स्ट्राइक पर पुष्टि किये जाने से ही पाकिस्तान की सच्चाई को समझाजा सकता था। आपको बता दें कि दाऊद की हालत भी पतली हो गई होगी। ऐसी कार्यवाही में भारत ने शायद अब सोचना बंद कर दिया है। पाक प्रधानमंत्री के तेवर इतने नरम हो नहीं सकते, और वो भी भारत के लिए। जब संसद में स्पीच दिया तो लगा कि कुछ तो पीछे रहस्य है। पाकिस्तान की सेना ने ही एयर स्ट्राइक के बाद उस जगह को कब्जे में ले लिया था। सेना ने उस वक्त गाड़िया

भारत में मोदी से एयर स्ट्राइक के सबूत मांगे जाने को लेकर पाक केबिनेट ने फैसला लिया है कि पुष्टि अब ‘वजीर ए आजम’ नहीं मसूद या उसके ख़ास की रिपोर्ट से की जाए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो हिन्दुस्तान सबूत के तौर पर तथ्यात्मक पुष्टि के लिए पुनः कैमरे से लैस जंगी विमानों को पाक पर उड़ा सकता है। अगर फिर भी विपक्षी दल नहीं मानेंगे तो शायद इंडियन कैबिनेट को बड़ा फैसला लेना पड़ेगा। उस फैसले में विपक्षी पार्टियों के दिग्गजों को बतौर कैमरामैन मिग/सुखोई/मिराज पर बांधा जा सकता है। अगर जगह नहीं पहचान पाए तो पुष्टि के लिए पाकिस्तान में धक्का दिया जा सकता है।

Latest News