तकनीकी विशेषज्ञों के अनुसार यूडब्ल्यूबी चिप्स के उत्पादन की लागत ब्लूटूथ कनेक्टिविटी के लिए उपयोग किए जाने वाले घटकों से अलग नहीं है। यह मैन्युफैक्चरिंग में स्केल इकोनॉमिक्स पर भी गौर करता है।

ल्ट्रा वाइडबैंड यानी यूडब्ल्यूबी एक वायरलेस संचार तकनीक है, जो कम बिजली की खपत करती है। शॉर्ट रेंज और हाई स्पीड डेटा ट्रांसमिशन के लिए यह आदर्श रूप से अनुकूल है। ब्लूटूब और वाइफाइ से बिल्कुल अलग है यूडब्ल्यूबी। क्षेत्र के आधार पर एक स्पेक्ट्रम (जो ३.१ गीगाहट्र्स से लेकर १०.६ गीगाहट्र्स तक होता है) में ५०० मेगाहट्र्स की बहुत व्यापक आवृत्ति वाली चौड़ाई के बैंडविड्थ पर यह कब्जा कर सकता है। इसे इस तरह डिजाइन किया गया है कि अन्य संचार मानकों के साथ कम हस्तक्षेप हो।

ट्रैक करे मूवमेंट
यह तकनीक वास्तविक समय में अन्य उपकरणों के मूवमेंट्स को ट्रैक कर सकती है और गति और संबंधित स्थिति दोनों को समझ सकती है। यूडब्ल्यूबी का प्रयोग अत्यधिक सटीक स्थानिक और दिशात्मक डेटा को पकडऩे और संचारित करने के लिए किया जाता है।

खेलों में होता है प्रयोग
ेंकई जगहों पर आजकल यूडब्ल्यूबी तकनीक का प्रयोग खेलों में भी हो रहा है। विशेषकर ऐसे गेम्स जिनमें ऑगमेंटेड रियलिटी को इस्तेमाल में लिया गया हो। इसके जरिए मल्टीप्लेयर गेम के लिए डिवाइस में जीपीएस को एक्टिव किए बिना शिकार करने की प्रकिया को सरल बनाया जा सकता है।

गाडिय़ों में होता इस्तेमाल
यूडब्ल्यूबी तकनीक का प्रयोग गाडिय़ों में भी किया जाता है। इससे न केवल वाहनों के दरवाजों को अनलॉक कर सकते हैं बल्कि होमपॉडमिनी की तरह गाडिय़ों में विजुअल, ऑडियो, हैप्टिक निर्देश देकर पार्किंग में इसे ढूंढना मददगार साबित हो सकता है। आधुनिकता को देखते हुए यह तकनीक कार शेयरिंग के मामले में उपयोगी है।

कितना है सुरक्षित?
डेटा ट्रांसमिशन में एन्क्रिप्शन के उपयोग के अलावा यूडब्ल्यूबी की सुरक्षा टीओएफ तकनीक पर भी निर्भर करती है। मजबूत सिग्नल के बजाय यह तकनीक प्रतिक्रिया समय के आधार पर दूरी का अनुमान लगाकर मैन इन दी मिडिल जोखिमों से बचाव करती है। कई हद तक इसे यूजर के लिए सुरक्षित माना गया है।

इसलिए
है बेहद जरूरी
पहले बताई गई अन्य वायरलेस डेटा ट्रांसमिशन तकनीकों के विपरीत, यूडब्ल्यूबी का उपयोग उपकरणों के बीच की दूरी को कुछ सेंटीमीटर की सटीकता तक निर्धारित करने के लिए किया जा सकता है। फोन की डिजिटल पहचान होने के नाते अब इस नई विशाल तकनीक में अपार क्षमताएं हैं। यह ब्लूटूथ व एनएफसी के बाद उपयोगकर्ताओं के लिए अच्छी व सुलभ सुविधा हो सकती है।

ये करते हैं यूडब्ल्यूबी को सपोर्ट
वैसे तो इसे कई जगह पर इस्तेमाल करते हैं। ऐप्पल व सैमसंग के कई तरह के अपडेटेड स्मार्टफोन के अलावा एयरटैग, होमपॉड मिनी, वॉच के अलावा स्मार्ट टैग में इसे उपयोग में लिया जा रहा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि शायद अगली पीढ़ी के गूगल पिक्सल में भी यह तकनीक शामिल हो सकती है। स्मार्टफान के कई ब्रांड के अलावा यह कई अत्याधुनिक बड़ी कारों या इलेक्ट्रॉनिक्स में कारगर है।

Latest News