पाक समुद्री सीमा पर भारतीय  नौसना करेगी अब तक का सबसे ताकतवर युद्धाभ्यास

Indian Navy Yuddhabhyas

 दक्षेस सम्मेलन स्थगित  होने की खबरों के बीच भारत ने अपनी कूटनीति के साथ-साथ सैन्याभ्यास के जरिये भी पाक पर दबाव बनाने की रणनीति तैयार की है। अब भारतीय  नौसेना अरब सागर में अपना अब तक का सबसे ताकतवर युद्धाभ्यास करेगी। इसका क्षेत्र   पाकिस्तान की समुद्री सीमा के पास ही होगा। इसमें 35 से अधिक युद्धपोत और पनडुब्बियां शामिल होंगी।
इससे चीन को भी मिलेगा  संदेश
नौसेना के एक  अधिकारी ने बताया कि इस युद्धाभ्यास  का नाम डिफेंस ऑफ गुजरात एक्सरसाइज (डीजीएक्स) रखा   है। उन्होंने कहा  कि भारत इस अभ्यास के माध्यम से न सिर्फ पाक बल्कि चीन को भी अपनी ताकत का अहसास कराना  चाहेगा  है। आपको बता दें कि नौसेना के इस युद्धाभ्यास में भारत पर काल्पनिक दुश्मन के समुद्री हमले से बचाव के उपाय और मार किए जाते हैं। ऐसे हमलों  में जो स्थिति बन सकती है, उसे युद्धाभ्यास में  निपटा जाता है। इस युद्धाभ्यास में  ऑयल रिग्स और तटीय क्षेत्रों की सुरक्षा भी शामिल  है। नौसेना के इस युद्धाभ्यास में लड़ाकू, खुफिया और गश्त करने वाले एयरक्राफ्ट्स और लड़ाकू विमान भी शामिल हो सकते  हैं। अरब सागर में पाक सीमा पर होने जा रहे युद्धाभ्यास में  वायुसेना के जगुआर और एसयू 30 एमकेआई और  नेवी के टोही , पैट्रोल एयरक्राफ्ट और ड्रोन्स का भी भरपूर इस्तेमाल किया जाएगा।
वायुसेना के इन लड़ाकू जहाज को भी कर सकते हैं शामिल
इस दौरान सुरक्षा एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम भी मौजूद रहेंगी। सूत्रों के अनुसार, वायुसेना के जहाज भी इस अभ्यास में शामिल हो सकते हैं। , पाकिस्तान के लिए व्यापार के लिहाज से अरब सागर महत्वपूर्ण रूट है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि पड़ोसी मुल्क ज्यादा दबाव में आ जाएगा। उसे आतंकवाद को लेकर अपनी रणनीति भारत के नजरिये के अनुसार  बदलनी होगी। इंटेलिजेंस और डिफेंस ऑफिशियल्स के अनुसार   अरब सागर में नौसेना का युद्धाभ्यास इस कड़ी का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा हो सकता है। ज्ञात हो  कूटनीतिक पहल के तहत भारत ने पाक में होने वाले दक्षेस  सम्मेलन में जाने से भी इनकार कर दिया है। बांग्लादेश, भूटना और अफगानिस्तान ने भी इसमे शामिल न होने की जानकारी दी है। ऐसे में  सम्मेलन का रद्द होना माना जा रहा है।

पाक डरा, हाई अलर्ट पर पाकिस्तानी सेना
भारत के इस कड़े रुख के बाद पाकिस्तानी सेना हाई अलर्ट पर है। पाक ने सीमा पर सैनिकों की संख्या में भी काफी  इजाफा किया है। इतना ही  नहीं, पाकिस्तान ने अपने सैन्यकर्मियों को बड़ी संख्या में  अफगानिस्तान के साथ पश्चिमी सीमा पर भी तैनात किया है, उस सीमा पर  चरमपंथी संगठनों से मुकाबला कर रहा है।पाकिस्तान  ने 31 कॉर्प्स और 30 कॉर्प्स को भी हाई अलर्ट पर रखा है।

Latest News