Sikar News : राजस्थान में लड़कियों की गुमसुदगी के चौंकाने वाले आंकड़े 

sikar news in hindi rajasthan
Rajasthan Sikar News :देशभर में सिर्फ यही सुनने को मिल रहा है और आस-पास में देखा भी जा रहा है की स्कूल से लेकर कॉलेज या कोचिंग तक पढ़ाई के नाम पर ज्यादातर विद्यार्थी प्रेम प्रसंग में पड़ जाते हैं। अभिभावक अपनी परवरिश में कोई कमी नहीं छोड़ते मगर पैसे खर्च करने के बाद बच्चों को पलट कर नहीं देखते।  राजस्थान के शिक्षा क्षेत्र में उभरते हुए जिले सीकर की यह पुलिस रिपोर्ट चौंका देने वाली हकीकत है कि रोजाना जिले के विभिन्न थानों में दर्ज औसतन दो लड़कियां लापता हो रही हैं। राजस्थान पुलिस इनकी तलाश भी नहीं कर पा रही है। रिपोर्ट देखें तो सिर्फ एक माह में ही 52 लड़कियों के गुम होने की रिपोर्ट परिवार वाले दर्ज करवा चुके हैं। लापता हुईं ज्यादातर लड़कियों की आयु 18वर्ष  से 30 वर्ष  के बीच है। अधिकतर लड़किया पढ़ाई कर रही हैं और कुछ पढाई पूरी करके तैयारी कर रही है।  
देश में ऐसे मामले और गिरोह भी सक्रीय है जो लड़कियों को विदेशों में बेच देते हैं। लव जिहाद के मामले भी हैं।  लड़कियों के बड़ी संख्या में लापता होने के मामलों की पुलिस इन्वेस्टीगेशन रिपोर्ट के आधार पर इंकार भी नहीं किया जा सकता कि अधिकांश लड़कियां प्रेम प्रसंग, बाहर काम करने की चाह, परिजनों से अनबन घर छोड़ गई हैं। कई मामलों में लड़कियों के अपहरण और बेचने के  भी मामले सामने आएं है। कॉलेज में पढ़ाई के नाम पर कुछ लड़कियां या लड़के अफेयर चलाते हैं प्यार बढ़ने लगता है तो दोनों घर से भाग जाते हैं। कुछ लड़कियों का अपहरण करके उनके साथ दुष्कर्म की घटनाएं भी सामने आई है उसके बाद जिनकी हत्या कर दी गई। 
दांतारामगढ़ की लापता लड़की का अजमेर में मर्डर
दांतारामगढ़ की एक लड़की संतोष जो 22 मई को गुमसुदा हो गई थी । परिजनों ने अपहरण को लेकर भारीजा की बाज्या की ढाणी निवासी प्रहलाद पर आरोप लगाया। वह उसे अजमेर के किशनगढ़  में भागकर ले गया। वहां रात को संतोष का चुन्नी से गला दबाकर हत्या कर दी और शव पुलिया के पास फैंक दिया। किशनगढ़ थाना पुलिस ने छह दिन तक शव की शिनाख्त नहीं होने की श्थिति में लावारिस लाश मानकर वहां 29 मई को उसका अंतिम संस्कार भी करवा दिया था। जून में सीकर पुलिस ने जब प्रहलाद को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। संतोष पर प्रहलाद ने सगाई तोडऩे का दबाव बनाया और संतोष के इनकार करने पर उसका मर्डर कर दिया।
रींगस से 13 साल की नाबालिग का अपहरण
रींगस कस्बे से 13 साल की नाबालिग का अपहरण कर आरोपित युवक उसे दिल्ली ले गए। परिजनों ने पुलिस थाने में लापता होने का मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने रेवाड़ी के पास ट्रेन में आरोपित को नाबालिग के साथ देखा तो आरोपित वहां से भाग गया। पुलिस ने नाबालिग को परिवार के सुपुर्द कर दिया। 
इन लड़कियों का कई माह से नहीं लगा सुराग
अजीतगढ़ की कविता वर्मा,दांता निवासी ज्योति, गांव जेरठी की किरण कुमारी, गांव भोरासी की बबीता कुमार, रानोली की महिला ज्योति 
गिरोह की भी आशंका और पुलिस की अनदेखी 
पीडि़तों का  आरोप है कि उनकी लड़की लापता होने पर  थाने में शिकायत करवाने जाते हैं तो पुलिस सहयोग नहीं करती। लड़की अपने आप आ जाएगी बालिग़ है खुद समझती है  या परिजनों को खुद अपने स्तर पर ही प्रेम प्रसंग और फ़ोन कॉल के आधार पर ढूढऩे की सलाह देकर पुलिस टरका देती है। ऐसे में मामलों में पुलिस को गंभीरता लेनी चाहिए और परिवार वालों को भी आज का दौर गंभीरता से लेना चाहिए।  
Note : मीडिया की उन बातों को सिरे से नकार दो जो कहता है की लड़कियां खुद लड़ सकती है।  परिवार वालों को लड़की की शादी से पहले हिफाजत और सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता रखने चाहिए। बेटी के जाने और आने की पूरी जानकारी के साथ किसके फ़ोन आते हैं और कौन कौन इसके दोस्त है।  तमाम जानकारी आज के युग में रखना जरुरी है।  हफ्ते में कोई भी एक दिन बेटी और बेटे की मुखबिरी के लिए कॉलेज या इंस्टिट्यूट तक पीछा करके हाल भी जानना चाहिए। 

Latest News