केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने सवर्णों के आरक्षण की पैरवी की है।  जयपुर आए अठावले ने कहा कि देश में सवर्णों को भी आर्थिक आधार पर 25 फीसदी आरक्षण दिया जाना चाहिए। आज सवर्ण समाज से जुडी जातियां आरक्षण की मांग पर प्रदर्शन कर रही है।  ऐसे में उन्हें भी उनकी जायज मानों के आधार पर 25 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना चाहिए, ताकि ये विवाद ख़त्म हो जाए।  अठावले मोदी सरकार के सामने इसको लेकर पक्ष रख चुके है।  अठावले ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि खेल और सेना में आरक्षण की मेने पैरवी की है।  क्रिकेट में आरक्षण दिया जाना चाहिए ताकि टीम और आगे बढे, जबकि सेना में आरक्षण की बात करते हुए अठावले ने कहा की सेना में आरक्षण दिया जाना चाहिए। क्योंकि अभी पाकिस्तान के साथ युद्ध के आसार बहुत कम है।  Reservation in indian army
rajasthan news in hindi

केंद्रीय सामाजिक न्याय व् अधिकारिता मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रिय अध्यक्ष रामदास अठावले ने शनिवार को जयपुर में कार्यकर्ताओं से वसुंधरा राजे और नरेंद्र मोदी का देने का आह्वान किया।  न्यू सांगानेर रोड के एक मैरिज गार्डन में बुलाए गए महिला कार्यकर्त्ता सम्मलेन में उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी एनडीए के साथ है इसलिए राजस्थान में वसुंधरा राजे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वातावरण तैयार नहीं करना है। 

उन्होंने कहा कि भीमराव अंबेडकर ने ही देश में हिन्दू समाज की महिलाओं के हालत सुधारने के लिए हिन्दू कोड बिल पेश किया था।  हालाँकि इस बिल का कई संगठनों और रहनीतिक दलों ने विरोध किया और अंबेडकर को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा तक देना पड़ा था।  उन्होंने कहा कि आरपीआई पार्टी केवल दलितों और पिछड़ों की पार्टी नहीं है , बल्कि सर्वसमाज की पार्टी है।  पद्मावत फिल्म के विवाद के समय आरपीआई पार्टी ने राजपूत समाज का साथ दिया था।  Latest hindi news rajasthan

राजस्थान में भी आरपीआई पार्टी भाजपा के साथ गठबंधन काने की कोशिश करने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान के निवासी व्यापर करने के मामले में बहुत होशियार होते हैं और इसलिए व्यापर व् व्यवसाय के मामले में देशभर में अग्रणी हैं।  इस दौरान अठावले ने एक – एक पदाधिकारी का नाम पुकार कर उनसे परिचय भी लिया। 

**लोगों ने ली चुटकी : पाकिस्तान से अभी युद्ध के हालात नहीं है इसलिए आरक्षण लागू किया जाए और पाकिस्तान ने हमला कर दिया तो अठावले लड़ेगा क्या ?

**खेल में आरक्षण लागू हुआ तो sc/st को गोल्ड मैडल के लिए समय ज्यादा दिया जाएगा।  क्रिकेट में sc/st की 60 रन में शतक माना जाएगा।  

Latest News