Sonali bendre latest news  बॉलीवुड से एकबार फिर एक और हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। अभिनेता इरफान खान के बाद  अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे को भी गंभीर बीमारी हो गई है। आपको बता दें कि इरफान खान इस अपना इलाज समय लंदन में एंड्रो न्यूरोक्राइन नामक बीमारी का करा रहे हैं। जो एक कैंसर है। सोनाली बेंद्रे भी एक कैंसर की शिकार हो गई और इलाज के लिए अमेरिका के लिए रवाना हो गई।

सोनाली ने ट्वीट कर दी कैंसर की जानकारी:
सोनली बेंद्रे ने कैंसर की जानकारी सोशल मीडिया के जरिए अपने फैंस को दी। सोनाली ने ट्वीट के जरिए बताया, ‘कभी-कभी, जब आप जिंदगी से कम से कम की उम्मीद करते हैं, तो जीवन आपको एक कर्वबॉल फेंकता है। मुझे हाल ही में हाई ग्रेड कैंसर हुआ है जिसे हम पहले स्पष्ट रूप से देख नहीं पा रहे थे।  एक अजीब से दर्द की शि‍कायत के बाद चिकित्सक की सलाह पर कुछ टेस्ट के जरिए इसका खुलासा हुआ है। मेरे परिवार और मेरे करीबी दोस्त  मेरे चारों ओर है, जो मुझे बेस्ट सपोर्ट दे रहे हैं।’

कैंसर से फैंस हैरान:
जैसे ही सोनाली के ट्वीट के जरिए इस गंभीर बीमारी का फैंस को पता चला तो सब हैरान हो गए। कुछ फैंस तो उन्हें इस कठिन समय में साहसी और सशक्त रहने की सलाह दे रहे हैं। फैंस और देश उनकी सलामती की दुआ मांग रहा है।

— Sonali Bendre Behl (@iamsonalibendre) July 4, 2018

इस प्रकार के कैंसर के ये होते है लक्षण   high grade cancer Effect
बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे मेटास्टेसिस कैंसर से पीड़ित हैं। मेटास्टेसिस शब्द का अर्थ है कैंसर का फैलना।बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे मेटास्टेसिस कैंसर से पीड़ित हैं। मेटास्टेसिस शब्द का अर्थ है कैंसर का फैलना। कैंसर सेल्स शरीर के अन्य हिस्सों में ट्यूमर बनाती हैं, जिन्हें मेटास्टेटिक ट्यूमर के रूप में जाना जाता है। हालांकि, प्राइमरी और मेटास्टैटिक कैंसर नेचर में समान होते हैं।  कैंसर के कई रूपों के चौथे चरण में एक मेटास्टैटिक होता है। मेटास्टैटिक एक गंभीर चरण है क्योंकि इसका मतलब है कि कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैलाने के लिए मजबूत है। मेटास्टैटिक कैंसर के प्राइमरी रूप के समान होता है। उदाहरण के लिए, यदि ब्रेस्ट कैंसर फेफड़ों में फैलता है, तो इसे मेटास्टेटिक ब्रेस्ट कैंसर कहा जाएगा लंग्स का कैंसर नहीं। मेटास्टैटिक कैंसर का उपचार चरण IV ब्रेस्ट कैंसर की तरह होगा। क्योंकि कैंसर प्रकृति में समान हो सकते हैं, डॉक्टर अक्सर कैंसर के प्राइमरी स्पॉट का पता लगाने में असफल हो सकते हैं। इस तरह के निदान को कैंसर ऑफ अननोन प्राइमरी (सीयूपी) के रूप में जाना जाता है। कैंसर के हड्डी में फैलने से दर्द और फ्रैक्चर हो सकता है। कैंसर के हड्डी में फैलने से दर्द और फ्रैक्चर हो सकता है। फेफड़ों में कैंसर फैलने से सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। लीवर में कैंसर फैलने से पीलिया और पेट में सूजन आ जाती है।

Latest News