100 और 50  के नोट हीं को लेकर सरकार का बड़ा एलान

केंद्र की सरकार ने रविवार को यह साफ किया कि 100 और 50 रुपए के नोटों को प्रचलन से बाहर करने की उसकी कोई मंशा नहीं है। एक वक्तव्य में यह  कहा गया है कि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि प्रधानमंत्री मोदी फिर से राष्ट्र को संबोधित कर 100 और 50 रुपए के बंद  करने की घोषणा करेंगे। सरकार की ओर से यह भी कहा गया है कि किसी भी मूल्य के नोट को अब  प्रचलन से बाहर करने की उनकी  कोई मंशा नहीं है और यह सब निराधार बात है।

noteban

साथ ही साथ इन खबरों का भी खंडन किया गया  कि 500 और 1000 रुपए के नोट प्रचलन से बाहर करने के निर्णय की जानकारी भी चुनिंदा कॉरपोरेट हाउस को पहले ही लीक कर दी गई । वक्तव्य में यह कहा गया, इस मामले में पहले ही पूरी गोपनीयता बरती गई है। सरकार की किसी भी वर्ग को  कोई भी जानकारी लीक करने की कोई मंशा नहीं थी।

वजह तुम हो: एक मिनट का ये इंटीमेट सीन ही है इस फिल्म की आत्मा , देखें वीडियो

गवर्नर उर्जित पटेल के बचाव में उतरे वित्त मंत्री जेटली

नोटबंदी पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडियाके गर्वनर उर्जित पटेल को लेकर कांग्रेस नेता जयराम रमेश की आलोचनात्मक टिप्पणी के बाद  अरूण जेटली रविवार को उर्जित पटेल के बचाव में उतर आए। जेटली ने ट्वीट के माध्यम से  कहा, कांग्रेस नेता द्वारा आरबीआई गर्वनर पर हमला अनुचित है। वित्त मंत्री ने यह सवाल किया कि क्या राजनेताओं को ऐसे  लोगों पर हमला करना चाहिए जो उसी तर्ज पर अपना भी बचाव नहीं कर सकते हैं।

देखें वीडियो  : बिग बोस विजेता  ने की सभी हदें पार,इंटीमेट सीन उड़ा देगा आपके होश,

कांग्रेस के प्रवक्ता रमेश ने एक लेख में यह आरोप लगाया था कि नोटबंदी पर अचानक उठाए गए कदम से आरबीआई के गर्वनर को भी अंधेरे में रखा गया था। रमेश ने यह लिखा था कि उर्जित पटेल ने नोटबंदी पर आरबीआई की तैयारियों को लेकर या तो देश को गुमराह किया या उन्होंने आरबीआई की स्वायत्ता  ही समाप्त की है। दोनों ही ऐसी स्थितियों में उन्हें पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

जयराम रमेश ने नोटबंदी से  नकदी के संकट पर पटेल की चुप्पी पर ही सवाल खड़ा किया। उन्होंने रिज़र्व बैंक  की स्वतंत्रता और स्वायत्ता पर  प्रश्न चिन्ह खड़ा किया तथा मौजूदा स्थिति पर भी उससे जवाब मांगा।

Latest News