राजस्थान में भजनलाल सरकार ने आज वित्त वर्ष 2024-25 का आम बजट विधानसभा में पेश किया है। इस बजट को राजस्थान की उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री दीया कुमारी ने पेश किया है। जब दीया कुमारी के बजट भाषण की शुरुआत करने से पहले विपक्ष ने टोका-टाकी की तो स्पीकर वासुदेव देवनानी ने उनको चुप रहने के लिए बोलते हुए कहा कि चुप हो जाओ, नहीं तो लक्ष्मी नाराज हो जाएंगी।

बता दें कि राजस्थान सरकार ने बजट का ऐलान करते हुए सरकारी नौकरियों की बंपर भर्ती जैसे कई बडे़ एलान किए हैं। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि पिछली सरकार में हुई पेपर लीक की घटना पर हमारी सरकार ने रोक लगाई है और माफियाओं पर कार्रवाई करते हुए 100 से ज्यादा लोगों को इस मामले के लिए गिरफ्तारी किया है, और आगे भी ऐसे ही काम करते रहेंगे।

वित्त मंत्री दीया कुमारी ने कहा कि हमारे 10 संकल्प हैं और इन्हीं को लेकर ही हम आगे बढ़ रहे हैं। इस समय राज्य की 16वीं विधानसभा का दूसरा सत्र चल रहा है। विधानसभा का बजट सत्र आमतौर पर फरवरी-मार्च में होता है लेकिन लोकसभा चुनाव के कारण दीया कुमारी ने आठ फरवरी को विधानसभा में अंतरिम बजट पेश किया था।

वित्त मंत्री ने युवाओं को सरकारी नौकरी देने की बात कही

दिया कुमारी ने अपने भाषण में यह भी कहा कि इस बार उनका टारगेट 70 हजार बढ़ा है और इस साल एक लाख युवाओं को नौकरी देने की घोषणा की गई है। सरकारी और निजी क्षेत्रों में 10 लाख रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि हर साल भर्ती परीक्षाओं ते द्वारा युवाओं को रोजगार दिया जाएगा और साथ ही युवा नीति 2024 लाने की भी घोषणा की।

युवाओं को रोजगार देने पर दिया कुमारी ने कहा कि, ‘युवाओं के विकास के लिए स्किल, अपग्रेडेशन किया जाएगा। सरकारी और निजी क्षेत्रों में 10 लाख से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे।‘

विधानसभा में युवाओं के भविष्य की हुई चर्चा

वित्त मंत्री दिया कुमारी ने युवाओं के भविष्य पर बात करते हुए कहा कि युवाओं को एआई आधारित काउंसलिंग की सुविधा दी जाएगी और उनकी क्षमताओं के विकास के लिए स्टेट स्किल पॉलिसी लाई जाएगी, इसके अलावा 1.50 लाख युवाओं को ट्रेमिंग दी जाएगी। युवाओं को स्टार्टअप के लिए अटल उद्यमी योजना की भी घोषणा की और चुने गए स्टार्टअप को 10 करोड़ रुपए तक की फंडिग दी जाएगी।

इसके अलावा तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 20 आईटीआई और 20 पॉलिटेक्निक कॉलेज खोले जाएंगे। सरकार भरतपुर, बीकानेर और अजमेर के इंजीनियरिंग कॉलेज को अपग्रेड करवाएगी और इस पर करीब 300 करोड़ की लागत आएगी।