भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने टी20 वर्ल्ड कप 2024 में मिली शानदार जीत के हफ्तेभर बाद ही नए हेड कोच के नाम का ऐलान कर दिया है। अब पद को भार उठाते हुए राहुल द्रविड़ के स्थान पर गौतम गंभीर ने हेड कोच की जिम्मेदारी संभालेंगे।

जी हां, जुलाई के अंत में टीम इंडिया के श्रीलंका दौरे से वह इस पद को संभालेंगे, जहां पर भारतीय टीम को तीन T20 और इतने ही वनडे मैच खेलने हैं। आगामी 27 जुलाई से भारत और श्रीलंका के बीच T20 सीरीज खेला जाएगा। लेकिन इस दौरे पर रोहित शर्मा और विराट कोहली जैसे कुछ सीनियर प्लेयर्स नहीं नजर आएंगे।

हाल ही में टीम इंडिया ने T20 वर्ल्ड कप में शानदार जीत हासिल की है, और इसके साथ ही रोहित-कोहली ने T20 से अपने सन्यास लेने की भी घोषणा कर दी थी। इसलिए वे दोनों वनडे और टेस्ट मैच में ही नजर आएंगे और दोनों को ग्राउंड पर देखने के लिए उनके फैंस को लंबा इंतजार करना पड़ेगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि BCCI ने रोहित शर्मा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह को श्रीलंका दौरे से रेस्ट दिया है। ये तीनों खिलाड़ी बांग्लादेश के भारत आने तक रेस्ट पर रहेंगे और सितंबर के अंत में भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाले टी20 और टेस्ट सीरीज खेलेंगे।

जय शाह ने किया वेलकम

बीते मंगलवार को BCCI के गौतम गंभीर को हेड कोच बनाने की घोषणआ के बाद सचिव जय शाह ने उनका वेलकम किया था। उन्होंने एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा, ‘मुझे बेहद खुशी है कि मैं गौतम गंभीर का भारतीय क्रिकेट टीम के नए मुख्य कोच के रूप में स्वागत कर रहा हूं। आधुनिक समय में क्रिकेट काफी तेजी से विकसित हुआ है और गौतम ने अपने पूरे करियर में कई तरह की भूमिकाओं में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद इसे बदलते हुए नजदीक से देखा है। मुझे पूरा विश्वास है कि गौतम भारतीय क्रिकेट को आगे बढ़ाने के लिए आदर्श व्यक्ति हैं। टीम इंडिया के लिए उनका स्पष्ट दृष्टिकोण और उनके विशाल अनुभव ने उन्हें इस रोमांचक और सबसे ज्यादा मांग वाली कोचिंग भूमिका को संभालने के लिए पूरी तरह से तैयार कर दिया है। इस नई यात्रा पर निकलने के लिए बीसीसीआई उनका समर्थन करता है।’

गौतम गंभीर ने जाहिर की अपनी खुशी

गौतम गंभीर ने सोशल मीडिया पर किए एक पोस्ट के जरिए अपना मकसद बताते हुए कहा, ‘भारत मेरी पहचान है और अपने देश की सेवा करना मेरे जीवन का सबसे बड़ा सौभाग्य रहा है। मैं वापस आकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं, हालांकि एक अलग रूप में। लेकिन मेरा लक्ष्य वही है जो हमेशा से रहा है, हर भारतीय को गर्व महसूस कराना। भारतीय प्लेयर्स 1.4 बिलियन भारतीयों के सपनों को अपने कंधों पर उठाते हैं और मैं इन सपनों को साकार करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दूंगा!’