Health Care Tips: आपदाग्रस्त पीडि़तों की मदद करने वाली संस्था फील्ड रेडी ने ऐसा साबुन तैयार किया है, जो बच्चों को हाथों को साफ रखने के लिए प्रेरित करता है बच्चों में निमोनिया और डायरिया जैसी बीमारियां का खतरा कम करता है। फील्ड रेडी संस्था ने इन खतरों को समझने के लिए ‘सेव द चिल्ड्रेन’ और लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन के साथ मिलकर स्टडी भी की है। इसे ग्रासरूट्स इनोवेशन ऑग्मेंटेशन नेटवर्क की ओर से हनी बी नेटवर्क क्रिएटिविटी इन्क्लूसिव इनोवेशन अवॉर्ड 2020 भी दिया गया है।

बच्चों को ऐसे प्रेरित किया
बच्चों को साफ-सफाई के लिए प्रेरित करने के लिए साबुन को तैयार किया। इन साबुन के अंदर खिलौनों को रखा गया ताकि बच्चे इन खिलौनों को पाने लिए अपने हाथ-पैरों को साफ रखें। ऐसा ही हुआ। बच्चों को यह साबुन काफी पसंद आया और उनका साफ-सफाई की ओर ध्यान बढ़ा।

विस्थापित कैंप में बच्चों को दिया
फी ल्ड रेडी संस्था ने इन साबुन को नाम दिया इंटरएक्टिव सोप। इसे इराक में शरणार्थियों के कैंप में रहने वाले बच्चों को बीमारियों से बचाने के लिए दिया गया। रिसर्च में सामने आए नतीजोंं को समझने के बाद यह साबुन तैयार किया गया था।

2016 में फील्ड संस्था ने रिसर्च के जरिए यह समझा कि कैसे संक्रामक बीमारियों के कारण बच्चों की मौतें हो रही हैं

50 साबुन में खिलौनों को रखा गया ताकि बच्चे इनके लिए हाथ-पैरों को साफ रखें

बच्चों का बिहेवियर बदला
फी ल्ड रेडी की रिसर्च में सामने आया कि निमोनिया के कारण एक साल में ९ लाख बच्चों की मौत हो गई। वहीं, डायरिया से ४ लाख ८० हजार बच्चों की मौत हो गई। रिसर्च के मुताबिक, बच्चों को ऐसी बीमारियों से रोकने और मौत के आंकड़े घटाने के लिए साबुन के जरिए साफ-सफाई रखने के लिए प्रेरित किया। इसे इराक के शरणार्थियों के कैंप में बांटा गया। इस पायलट प्रोग्राम में शामिल जूली वॉटसन का कहना है, हमने देखा कि बच्चे उस साबुन से हाथ धोने के लिए कितने एक्साइटेड थे और इसकी मदद से उनके बिहेवियर में भी बदलाव आया। साफ-सफाई की ओर उनका ध्यान बढऩे लगा।

Latest News