sliping with earphone
sliping with earphone

स्मार्टफोन जितना आसान जीवन को बना रहा है उतना ही ज्यादा इंसानी जीवन के साथ खतरनाक बन रहा है। कानों में ईयरफोन लगाकर सोने से एक युवक की मौत हो गई है। स्थानीय पुलिस शुरुआती जांच में युवक की मौत की वजह बिजली के करंट का झटका मान रही है। मृतक का नाम क्रिट्साडा सुपोल है। द सन की रिपोर्ट के मुताबिक युवक रात में ईयरफोन कान में लगाकर म्यूजिक सुनते हुए सो गया था और उसका फोन चार्जिंग पर भी लगा हुआ था। बिजली का करंट लगने से युवक की अचेत अवस्था में मौत हो गई है। हालांकि पुलिस ने पीड़ित के शव को कब्जे में लेकर हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, जिसके बाद ही मौत की सही वजह पता चल पाएगी।

पुलिस ने सुपोल की मौत के बाद बाजारों में बिकने वाले सस्ते चार्जर के इस्तेमाल को लेकर भी चेतावनी जारी की है। पुलिस ने बताया कि मकान मालिक जब घर पहुंचा तो उसने युवक को मृत अवस्था में पाया जिसके बाद उसने मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने बताया कि मृतक के कान में ईयरफोन लगा हुआ था और माइक उसके होंठ के पास था। जिसका मतलब है कि या तो वह किसी से बात कर रहा था या फिर म्यूजिक सुन रहा था।

प्रारम्भिक जांच के बाद पुलिस के अधिकारी ने बताया कि मौत करंट लगने के कारण हुई है। उन्होंने कहा, ‘हमें लगता है कि मौत की वजह शॉर्ट सर्किट ही है।’ पुलिस अधिकारी ने सस्ते चार्जर को ही युवक की मौत का कारण बताया है। उन्होंने कहा, ‘कई लोग की जान खतरे में हो सकती है, अगर वह सस्ते चार्जर का इस्तेमाल करते हैं। जो किसी अधिकृत कंपनी द्वारा नहीं बनाया गया है।’

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीड़ित के शव को पोस्टमार्टम के लिए स्थानीय चिकित्सालय भेज दिया गया है, जिससे उसकी मौत की असली वजह का पता चल सके। दरअसल, मोबाइल चार्जर्स को 240 वोल्ट का इनपुट मिलता है, जबकि ऑउटपुट 5 वोल्ट होता है। हालांकि कई सस्ते चार्जर 240 वोल्ट के करंट को ही आउटपुट केबल में भेज देते हैं। पिछले साल ब्राजिल में भी इसी तरह से एक युवक की करंट लगने से मौत हुई थी।

Latest News