केरल में तिरुवनंतपुरम के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स ने दुनिया की पहली १०० फीसदी इको-फ्रेंडली इलेक्ट्रिक कार बनाई है। यह कार इलेक्ट्रिक है और बांस से तैयार की गई है। स्टूडेंट्स ने यह कार शैल इको-मैराथन कॉम्पिटीशन में भाग लेने के लिए बनाई। यह कॉम्पिटीशन स्टूडेंट्स को नई खोज करने के लिए प्रेरित करता है। इस इको-फ्रेंडली कार के लिए बार्टन हिल के गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों को सर्कुलर एकेडमी अवॉर्ड भी दिया गया है। यह कार ईको-फ्रेंडली मॉडल का एक प्रोटोटाइप है।

बांस से कार तैयार करने का आइडिया कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. अनीश के. जॉन का था, जिसे हाल ही ने स्टूडेंट्स तैयार किया और पूरी टीम अवॉर्ड जीतकर चर्चा में रही।

मॉडल को और बेहतर बनाने की कोशिश
रिसर्च टीम का कहना है कि कार की चेसिस को और बेहतर बनाने की कोशिश की जा रही है। इस कार को और मॉड्युलर बनाया जा सकेगा। अब दो सीट वाली बैम्बू कार को बनाया जाएगा। इसमें बैम्बू फ्रैबिक बॉडी और बैम्बू चेसिस का इस्तेमाल किया जाएगा। रिसर्च टीम मेम्बर अर्जुन का कहना है, ‘यह कार ऑटोमोबाइल सेक्टर में मौजूद कारों में सर्वश्रेष्ठ नहीं है, लेेकिन यह उदाहरण है कि ईको-फ्रेेंडली कार भी तैयार की जा सकती है।

ऐसा है इंजन
इस ईको-फ्रेंडली कार में ३५ सीसी का आइसी इंजन लगाया गया है, जो ईंधन को बचाता है। इसे तैयार करने वाली टीम के मेम्बर केविन फेलिशियस का कहना है, इस ईको-फ्रेंडली कार के कॉन्सेप्ट से बड़ी कार कंपनियों को प्रेरणा मिलेगी।

Latest News