EVM हैकिंग : पार्टियों के लिए नामांकन का आज आखिरी दिन, आयोग ने की AAP की मांग खारिज
#evm chellenge

पांच राज्यों के चनावी नतीजों  के बाद ईवीएम की विश्वसनीयता को लेकर  उठे सवालों पर चुनाव आयोग ने सभी राजनितिक दलों को वोटिंग मशीन को गलत ठहराने के लिए चुनौती दी थी। लेकिन इसके लिए अभी तक कोई भी दल आयोग की  इस चुनौती को स्वीकार करने के लिए आगे नहीं आ रहा है। चुनाव आयोग की तरफ से एक्सपर्ट के लिए नामांकन का आज अंतिम दिन है और अब तक किसी भी पार्टी की ओर से कोई नामांकन नहीं हुआ है।
3 जून से शुरू होना है ईवीएम चैलेंज
आयोग के प्रवक्ता ने गुरुवार को कहा  कि अब तक किसी भी पार्टी ने किसी जानकार तकनीशियन को ईवीएम चुनौती स्वीकारने के लिए नामित नहीं किया है। बीती 20 मई  को आयोग ने यह घोषणा की थी कि 3 जून से ईवीएम हैकिंग चैलेंज हो रहा है जिसके लिए 26 मई तक पार्टियां जानकारों को नामित कर सकती हैं।
 आयोग ने आप की गलत मांग को नकारा
 चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के द्वारा की गई  मांग को नकारा दिया है। जिसमें आप पार्टी ने ईवीएम से छेड़छाड़ साबित करने के लिए मदर बोर्ड बदलने की इजाजत मांगी थी। लेकिन आयोग ने अपने जवाब में आप को कहा है कि मदरबोर्ड बदलने का मतलब एक नई मशीन बनाने जैसा है जिसकी किसे भी इजाजत नहीं दी जा सकती।
ईवीएम की विश्वसनीयता पर खड़े हुए सवाल
गौरतलब है कि 5 राज्यों में विस. चुनावों के बाद बसपा से मायावती और आप पार्टी समेत कांग्रेस और कई विपक्षी दलों ने ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े किए और  चुनाव आयोग को बैलेट पेपर से चुनाव कराने की अपील की थी। आप पार्टी ने दिल्ली वि.स. में ईवीएम के साथ कैसे छेड़छाड़ संभव है उसका लाइव डेमो भी दिखाया था।

Latest News