Friday, January 27, 2023
HomeTrendingइस बीमारी ने सोनम कपूर को भी किया था परेशान, महिलाओं के...

इस बीमारी ने सोनम कपूर को भी किया था परेशान, महिलाओं के लिए किसी श्राप से कम नहीं

Sonam Suffer From Pcos: हम में से शायद ही कोई ये सोचता होगा की बड़े बड़े एक्ट्रेस को भी बीमारी होती है. हमे ऐसा इसलिए लगता है क्योंकि वो अपनी डाइट मेन्टेन करती है. आज हम बात कर रहे है सोनम कपूर की. वही सोनम कपूर जिन्होंने रत्न धन पायो, नीरजा, दिल्ली 6, खूबसूरत, रांझणा, संजू, डौली की डोली, जैसी हिट फिल्मों की है. उन्होंने खुद बताया था कि वो बहुत सालों से एक बीमारी से झूझ रही थी और इस बीमारी का नाम है पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम यानी की PCOS . ये बीमारी उन्हें 14-15 साल की उम्र से ही है. बता दे सोनम कपूर ने जिस बीमारी का सामना किया है वो महिलाओं के लिए बहुत ही खतरनाक हो सकती है.

दरअसल पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम यानी कि PCOS महिला में बांझपन का कारण होती है. अगर वक़्त रहते इस को कंट्रोल नहीं किया गया तो आपकी ये परेशानी बढ़ सकती है. आज इस खबर में हम आपके लिए पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के बारे में जानकारी देने वाले हैं, कि आखिर इस से कैसे बचा जाए.

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम

बता दे पीसीओएस महिलाओं को होने वाली एक नार्मल प्रॉब्लम है, लेकिन इस के बावजूद इस से ज्यादातर महिलाएं अनजान रहती हैं. पीसीओएस का पूरा नाम है पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम है, जो महिला के असंतुलित हॉर्मोन के कारण होती है. ये बीमारी मुख्य रूप से मासिक धर्म के अनियमित होने पर भी होती है, जिस की वजह से महिला को गर्भधारण करने में बहुत ही मुश्किल होती है.

लक्षण

पीसीओएस से ग्रसित महिलाओं में पुरुष हार्मोन के स्तर बढ़ने के कारण से इस का असर उन के व्यवहार में भी नजर आने लगता है और वो पहले से ज्यादा चिडचिडी और गुस्सैल हो जाती हैं. इस के अलावा ठीक से नींद ना आना भी पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का एक लक्षण होता है और इसलिए ऐसे में सोकर उठने के बाद भी महिलाएं थका हुआ महसूस करती हैं.

पीसीओएस से सेहत पर असर

जो भी लड़की या फिर महिला PCOS यानी कि पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम से पीड़ित होती है, उसे ओवरी के आसपास सिस्ट उग जाती है, जो कि पीरियड्स को बहुत बुरी तरह प्रभावित करती है.इस से वजन बढ़ने से लेकर अनियमित पीरियड्स तक, PCOS होने पर जीवन बहुत मुश्किल हो जाता है.हालांकि, पीसीओएस का इलाज संभव है, लेकिन यदि बहुत वक़्त तक इसका इलाज न किया जाए तो ये गंभीर रूप ले सकती है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments