भारत के इस कफ सिरप से हुई 19 बच्चों की मौत, मुसीबत में पड़नें से पहले पढ़ लें यह खबर

कफ सिरप के सेवन से 19 बच्चों की मौत होने की घटना सामने आई है। जिसके बाद उत्तर प्रदेश के नोएडा स्थित फार्मा मैरियन बायोटेक कंपनी सवालों के घेरे में आ गई है। इस मामले के बीच अब WHO भी आ गया है।

WHO ने आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा है कि “नोएडा स्थित इस कंपनी के कफ सिरप को बच्चों को नहीं देना चाहिए। आगे WHO ने अपने बयान में कहा है कि मैरियन बायोटेक के बनाये इन दो सिरप का प्रयोग बच्चों पर नहीं किया जाना चाहिए।” जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि नोएडा की मैरियन बायोटेक कंपनी के बनाये इस सिरप के कारण उज्बेकिस्तान में 19 बच्चों की मौत हो चुकी है।

दो सिरप को लेकर जारी हुआ अलर्ट

आपको बता दें की WHO ने दो सिरप AMBRONOL सिरप और DOK-1 मैक्स को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। असल में जब इन सिरप की जांच की गई तो इनमें डायथिलीन ग्लाइकोल की अस्वीकार्य मात्रा पाई गई है। बता दें कि बीते दिसंबर 2022 में उज्बेकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दावा किया था की भारतीय दवाओं के कारण हमारे यहां 18 बच्चों की जान चली गई है।

UP सरकार ने किया कंपनी का लाइसेंस निलंबित

इस बारे में संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने भी अपने विचार रखें हैं। एजेंसी ने कहा है कि “संदर्भित उत्पाद असुरक्षित हैं और विशेष रूप से बच्चों में उनके उपयोग से गंभीर चोट या मृत्यु हो सकती है।” इसी मामले में अब उत्तर प्रदेश सरकार ने कड़ा रुख अपनाया है। बता दें कि उत्तर प्रदेश खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए नोएडा स्थित मैरियन बायोटेक कंपनी के उत्पादन लाइसेंस को निलंबित कर दिया है।