ajmer lok sabha election 2019
ajmer lok sabha election 2019

Lok Sabha Election 2019 Rajasthan अजमेर लोकसभा क्षेत्र की बात करें तो राजस्थान का अल्फाबेट के अनुसार पहला जिला है। यहाँ राजनीती के धुरंधर भी अपना भाग्य आजमा चुके हैं। Ajmer Lok Sabha Election 2019 की बात करें तो यहाँ भाजपा और कांग्रेस दोनों में टक्कर कड़ी रहेगी। वर्तमान में यहाँ से सांसद है रघु शर्मा जिन्होंने विधानसभा चुनाव जीतकर मंत्री का पदभार ग्रहण किया है। अजमेर लोकसभा सीट पर चुनाव दोबारा होने है लेकिन लोकसभा चुनाव 2019 को निकट देखते हुए चुनाव आयोग इसे उसी में सम्मिलित करेगा। अजमेर लोकसभा चुनाव में गुर्जर और मुस्लिम वर्ग बहुत ज्यादा भूमिका निभाते हैं। वोट बाहुल्य को देखते हुए ही पिछली बार कांग्रेस ने सचिन पायलट को मैदान में उतारा था, लेकिन मोदी लहार के चलते ये दिग्गज नेता सांवरलाल जाट से हार गए थे। सांवरलाल जाट की छवि अजमेर में बहुत अच्छी थी जिसका फायदा वसुंधरा राजे ने सरकार में होते हुए सचिन को हारने के लिए लिया। सांवरलाल केंद्र में पहले भी मंत्री रह चुके थे और उन्हें लोकसभा चुनाव अजमेर के जितने के बाद राजस्थान किसान बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया। सांवरलाल जाता के निधन के बाद अजमेर लोकसभा सीट पर भाजपा के नेता लुप्त हो गए और वहां उनके पुत्र रामस्वरूप लाम्बा को रघु शर्मा के सामने चुनावी मैदान में उतार दिया गया। रामस्वरूप लम्बा लोकसभा चुनाव में हार गए। लेकिन विभानसभा चुनाव में रघु शर्मा और रामस्वरूप लाम्बा दोनों ही विजयी हो गए। देखना ये होगा की इस बार लोकसभा चुनाव 2019 में कौनसी पार्टी का परचम होगा।

Ajmer Lok Sabha Election 2019 Rajasthan
इसबार विधानसभा चुनाव में हुए मतदान को देखें तो कांग्रेस को बढ़त नहीं मिली है। यहाँ अजमेर की आठ विधानसभा सीटों में से पांच पर भाजपा ने कब्ज़ा जमा लिया है और कांग्रेस 3 सीटों केकड़ी, किशनगढ़ और मसूदा विधानसभा से जीती हुई हैं। राजस्थान में कांग्रेस लहर के अंदर भी अजमेर विधानसभा न जितने के कारण को लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखें जाए तो भाजपा की जीत सुनिश्चित है। कांग्रेस Ajmer Lok Sabha Congress Candidate Election 2019 में बात करें तो मोहरे के तौर पर रघु शर्मा को फिर से मैदान में उतार सकती है। राजस्थान मंत्रीमंडल में जगह देने के साथ ही अच्छी तवज्जो भी दी जा रही है। चिकित्सा मंत्री बनने के साथ ही रघु शर्मा ने सभी बड़े चिकित्स्कों को अजमेर और खुद के विधानसभा क्षेत्र में लगा दिया। अजमेर में चिकित्सा क्षेत्र को बढ़ावा देने के साथ ही सक्रियता को देखते हुए अंदाजा लगाया जा सकता है की कांग्रेस अजमेर लोकसभा प्रत्याशी रघु शर्मा ही बनाए जा सकते हैं। भाजपा की बात करें तो भाजपा के पास कोई भी विकल्प मौजूद नहीं है जो सांसद के लिए चुने मैदान में उतरा जा सके। रामस्वरूप लाम्बा को स्थानीय जनता खुद के विधानसभा क्षेत्र से दूर नहीं जाने देना चाहती और वो खुद भी राजस्थान की राजनीती में ही दिलचस्पी दिखाएंगे।

Lok Sabha Election 2019 Ajmer

Ajmer Lok Sabha Election 2019 BJP Candidate की बात करें वासुदेव देवनानी भी मैदान में उतारे जा सकते हैं। अजमेर उत्तर विधानसभा सीट से जीत दर्ज कर पुराने धुरंधर के तौर पर राजस्थान की राजनीती में अहम् स्थान रखते हैं। भाजपा लोकसभा चुनाव 2019 में वासुदेव देवनानी के अतिरिक्त किसी अन्य प्रत्याशी को मैदान में उतारती है तो बाहरी होने का भी सामना करना पड़ सकता है। अजमेर लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा के पक्ष में यह सीट जा सकती है अगर रघु शर्मा चुनावी मैदान में नहीं उतारे जा सकते हैं तो। देखा जाए तो विधानसभा सीटों के अनुसार लोकसभा चुनाव में वोट प्रतिशत भाजपा के पक्ष में अधिक रहेगा।

Latest News