Mustard Oil: माना जाता है कि रिफाइंड ऑयल की तुलना में सरसों का तेल शरीर के लिए स्वास्थ्यवर्धक होता है। आज भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो खाना बनाने में सरसों के तेल का ही उपयोग करते हैं। यदि आप भी सरसों के तेल का उपयोग करते हैं तो यह सही समय है कि आप इसे खरीदने में जरा भी देर न करें।

जहां रूस और युक्रेन के युद्ध ने अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेलों के दाम आसमान पर पहुंचा दिए हैं, वहीं सरसों के तेल के दामों में कमी आई है। इन दिनों सरसों का तेल 3 रुपये सस्ता होकर 165 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। पिछले कुछ दिनों में यह भाव 168 रुपये प्रति लीटर था।

सर्दियों में अधिक खपत से महंगा
दिसंबर महीने में जहां सरसों का तेल 200 रुपये प्रति लीटर था वहीं अब ये तेल अपने उच्चतम स्तर से करीब 30 -40 रुपये कम में बिक रहा है। सर्दीयों में सरसों के तेल की खपत अधिक होने के कारण इसके भावों में कमी नहीं आती। लेकिन जैसे-जैसे मौसम बदल रहा है तेल के भावों में और कमी आने की संभावना है।

यूपी में सरसों के तेल के दाम बढ़े हैं। वहां हमीरपुर में सरसों का तेल 174 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है। गाजीपुर में 172 और कानपुर में सबसे ज्यादा 180 रुपये प्रति लीटर तक सरसो का तेल बिका है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी 2022-2023 के बजट में तेल तिलहन की खेती करने वाले किसानों को राहत दी थी। आने वाले समय में इसका प्रभाव भी देखा जा सकता है।

Latest News